यूपी में कैसी पढ़ाई: अंग्रेजी में ‘महात्मा’ शब्द न पढ़ पाए छात्र

  • यूपी में कैसी पढ़ाई: अंग्रेजी में ‘महात्मा’ शब्द न पढ़ पाए छात्र
You Are HereNational
Sunday, November 10, 2013-9:46 AM

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश में सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए सरकार भले ही पानी की तरह पैसा बहा रही हो लेकिन शिक्षक कितनी गंभीरता से अपने फर्ज को अंजाम दे रहे हैं, इसका नमूना जिलाधिकारी के औचक निरीक्षण में सामने आया। जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने जब पिखलौनी स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय का निरीक्षण किया तो उन्हें वहां कम विद्यार्थी मिले। कक्षा 6 के बच्चों की पढ़ाई तो राम भरोसे थी। गणित में जोड़-घटाव तो छोड़ दीजिए, अंग्रेजी का एक शब्द तक नहीं पढ़ सके।
 
जिलाधिकारी निरीक्षण के लिए पूर्व माध्यामिक विद्यालय पहुंचे। इस दौरान स्कूल में पंजीकृत 116 की जगह 36 विद्यार्थी मिले। स्कूल में प्रधानाध्यापक, 4 शिक्षक और 3 अनुदेशक तैनात हैं। उन्हें शिक्षक डॉ. भरत सिंह और सुनीता चौधरी गैरहाजिर मिले। बताया गया कि वे बीआरसी प्रशिक्षण पर गए हैं।

जिलाधिकारी की मौजूदगी में कक्षा 6 का एक भी विद्यार्थी अंग्रेजी की किताब का पहला अध्याय ‘शेयरिंग एंड केयरिंग’ की एक लाइन तो दूर, ‘ महात्मा’ शब्द भी न पढ़ सका। कक्षा में 13 विद्यार्थी उपस्थित थे, मगर वे सवालों के जवाब न दे सके। जिलाधिकारी ने शिक्षा के खराब स्तर पर प्रधानाध्यापक युवराज सिंह का दूरस्थ स्थानांतरण करते हुए प्रतिकूल रिपोर्ट लिखने के निर्देश दिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You