जेल में पढ़ाई कर रहा है विस्फोट का आरोपी

  • जेल में पढ़ाई कर रहा है विस्फोट का आरोपी
You Are HereNational
Sunday, November 10, 2013-1:45 PM

 मुंबई: वर्ष 2006 में एक लोकल ट्रेन में बम लगाने के आरोप में गिरफ्तार युवक ने जेल में पत्राचार के माध्यम से पढ़ाई करके पर्यटन में तीन वर्ष का डिग्री पाठ्यक्रम पूरा किया है। जमियत उल उलेमा के वकील शाहिद नदीम के मुताबिक, मुंबई के आर्थर रोड पर स्थित केंद्रीय कारागार में बंद एहतेशाम सिद्दीकी (31) ने उर्दू, अरबी और मानवाधिकार में भी सर्टिफिकेट कोर्स किया है। नदीम यहां सिद्दीकी और कुछ अन्य आरोपियों को मुफ्त कानूनी सहायता दे रहे हैं। मकोका अदालत ने एहतेशाम को विशेष पाठ्यक्रमों के अध्ययन की अनुमति दी थी, जिसके बाद वह प्रत्येक रविवार क्लास करने उपनगरीय संस्थान जाता है। इस दौरान उस पर नजर रखने के लिए छह पुलिसकर्मी उसके साथ होते है। नदीम कहते हैं, कि उनके अनुरोध पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने जेल के भी एक परीक्षा केंद्र शुरू किया है।

उपनगरीय मुंबई का निवासी सिद्दीकी गिरफ्तारी से पहले किताबें बेचा करता था और इसी दौरान पढ़ाई में उसकी रूचि बढ़ी। अब जेल में, वह अपने साथी कैदियों की कानून समझने में मदद कर रहा है, जिससे कि वे खुद का बचाव कर सकें। आतंक निरोधी बल ने उसे बम बनाने, विस्फोटक ले जाने और उन्हें लगाने के आरोप में महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) के तहत गिरफ्तार किया था। हालांकि अदालत में अपने बचाव में उसने कहा था कि उसे फंसाया गया है। उसपर इस मामले के एक अन्य आरोपी मोहम्मद अली के गोवंडी स्थित घर पर अन्य आरोपियों के साथ मिलकर प्रेशर कुकर बम बनाने का आरोप है। पुलिस का कहना है कि 11 जुलाई, 2006 को सिद्दीकी चर्चगेट रेलवे स्टेशन पर मौजूद था और उसने बम लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस दिन हुए सात बम धमाकों में 187 लोग मारे गए थे और सैंकड़ों अन्य घायल हुए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You