सीबीआई की वैधता पर उठे सवाल को लेकर सरकार गंभीर: पीएम

  • सीबीआई की वैधता पर उठे सवाल को लेकर सरकार गंभीर: पीएम
You Are HereNational
Monday, November 11, 2013-2:17 PM

नई दिल्ली: सीबीआई के कामकाज में राजनीतिक हस्तक्षेप के विपक्ष के आरोप को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आज कहा कि पुलिस और जांच एजेंसियां कार्यपालिका के प्रशासनिक देखरेख में काम करती हंै, लेकिन उन्हें जांच में पूरी स्वतंत्रता मिलती है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि संविधान के तहत सार्वजनिक व्यवस्था को बनाए रखना कार्यपालिका के कार्यक्षेत्र में आता है। इसमें अपराधों की रोकथाम, पहचान एवं अभियोजन शामिल हैं।

सीबीआई के एक सम्मेलन में यहां प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘पुलिस और जांच एजेंसियां इस वजह से कार्यपालिका का एक हिस्सा हैं और उन्हें कार्यपालिका की प्रशासनिक देखरेख में काम करना चाहिए।’’ सीबीआई की स्वायत्ता को लेकर उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह जानना बहुत जरूरी है कि कानून के तहत पुलिस को अपराधों की जांच के मामलों में पूरी स्वतंत्रता मिलती है और जांच में किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अलावा कोई भी हस्तक्षेप नहीं कर सकता।’’ उन्होंने कहा कि सीबीआई और पुलिस को जांच में स्वतंत्रता मिली हुई है लेकिन ‘‘जांच प्रक्रिया को बाहरी हस्तक्षेप से बचाने के लिए अगर और ज्यादा उपाय करने की जरूरत है तो हमें ऐसा करने में संकोच नहीं करना चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You