सभी पार्टियों के खातों की जांच हो: केजरीवाल

  • सभी पार्टियों के खातों की जांच हो: केजरीवाल
You Are HereNational
Tuesday, November 12, 2013-9:56 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने आज कहा कि वह अपने कोषों की सरकार द्वारा जांच के लिए तैयार है लेकिन पार्टी ने मांग की कि कांग्रेस और भाजपा को भी वैसी ही जांच के लिए पेशकश करनी चाहिए। आप संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने पीटीआई से कहा कि हम अपने कोषों की जांच के सरकारी आदेश का स्वागत करते हैं। हम मांग करते हैं कि सरकार कांग्रेस और भाजपा के कोषों की भी जांच कराए।’’

आप को आठ नवंबर तक चंदों के रूप में करीब 19 करोड़ रूपए मिले हैं। चंदा देने वाले 63 हजार लोगों में प्रवासी भारतीय भी हैं। गृह मंत्री सुशीलकुमार शिंदे ने कहा है कि आप को विदेशों से धन मिलने की शिकायतें मिलने के बाद जांच के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मुझे शिकायतें मिली हैं। हम मामले की जांच कर रहे ह, कोष कहां से आ रहे हैं, किस देश से, इसका स्रोत क्या है आदि। हम इन सब बातों का पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं।’’

शिंदे ने हालांकि कहा कि इस प्रकार की जांच में समय लगता है और उन्होंने संकेत दिया कि जांच के नतीजे दिल्ली में चार दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले नहीं आ सकेंगे। केजरीवाल ने कहा कि जांच पूरी होने के 48 घंटों के बाद इसकी रिपोर्ट सार्वजनिक कर दी जानी चाहिए।

उधर आम आदमी पार्टी (आप) ने विदेशों से मिले पैसों की जांच का आदेश देने पर सरकार की आलोचना करते हुए उसे परेशान करने का आरोप लगाया और कहा कि उसने कोई कानून नहीं तोड़ा है। इसके साथ ही पार्टी ने अन्य राजनीतिक दलों के खिलाफ भी ऐसी ही जांच कराए जाने की मांग की।

गृह मंत्री सुशीलकुमार शिंदे ने आज कहा कि कई शिकायतें मिलने के बाद आप के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि ऐसी जांच में समय लगता है और संकेत दिया कि ऐसी जांच के नतीजे दिल्ली विधानसभा चुनाव के पहले नहीं आ सकेंगे। आप ने एक बयान में कहा, ‘‘ आप अपने कोषों की जांच के संबंध में केंद्रीय गृह मंत्री के बयान का स्वागत करती है।

हम स्वागत करते हैं कि कोई प्राधिकार आए और हमारे खातों की जांच करे क्योंकि यह नयी, पारदर्शी और ईमानदारी राजनीति है जिसका अनुसरण आप कर रही है। ’’ अरविन्द केजरीवाल नीत पार्टी ने कहा कि वह ईमानदारी और स्वच्छ राजनीति के पक्ष में है तथा महसूस करती है कि राजनीतिक वित्तपोषण के स्रोतों की जांच देश में राजनीतिक तंत्र के लिए बेहतर है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You