RTI कार्यकर्ता जेठवा हत्याकांड की जांच में सीबीआई छल कर रही है: न्यायालय

  • RTI कार्यकर्ता जेठवा हत्याकांड की जांच में सीबीआई छल कर रही है: न्यायालय
You Are HereNational
Monday, November 11, 2013-6:24 PM

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि आर.टी.आई कार्यकर्ता अमित भीकाभाई जेठवा हत्याकांड की जांच में केन्द्रीय जांच ब्यूरो प्रक्रिया के साथ ‘छल कर रही’ है। इस हत्याकांड में जांच ब्यूरो ने गुजरात से भाजपा सांसद दीनूभाई बोगाभाई सोलंकी को गवाह के रूप में तलब करने के बाद गिरफ्तार कर लिया था।

न्यायमूर्ति सुरिन्दर सिंह निज्जर और न्यायमूर्ति एफएमआई कलीफुल्ला के समक्ष सीबीआई के वकील ने कहा कि सोलंकी को पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद गिरफ्तार किया गया क्योंकि निश्चित ही उनके खिलाफ सबूत होंगे। इस पर न्यायाधीशों ने कहा, ‘‘आप छल कर रहे हैं।’’ भाजपा सांसद की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि सोलंकी को पूछताछ के लिए बुलाया गया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच के गुजरात उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ उनकी याचिका शीर्ष अदालत में लंबित थी।

रोहतगी का यह भी कहना था कि सोलंकी ने इस मामले में गवाह के रूप में तलब करने के लिए भेजा गया सम्मन रद्द करने का भी अनुरोध किया था। उन्होंने कहा कि भाजपा का यह सांसद पिछले छह दिन से जांच ब्यूरो की हिरासत में है और उसे अब जांच एजेन्सी की हिरासत से निकालकर न्यायिक हिरासत में भेजा जाना चाहिए। इस पर न्यायाधीशों ने कहा कि सारे मसले पर शुक्रवार को सुनवाई की जाऐगी।

न्यायालय ने सीबीआई के वकील को शुक्रवार को अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया। शीर्ष अदालत ने इस साल मार्च में कहा था कि जांच ब्यूरो उसके निर्देशानुसार जांच जारी रखे और इसे पूरा करे लेकिन जांच के नतीजे सीलबंद लिफाफे में रखे जाने चाहिए। दिल्ली की एक अदालत ने 6 नवंबर को भाजपा सांसद को दो दिन के लिये सीबीआई की ट्रांजिट हिरासत में दे दिया था ताकि उन्हें इस हत्याकांड के सिलसिले में अहमदाबाद ले जाया जा सके। जेठवा ने गिर वन क्षेत्र में गैरकानूनी खनन के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You