इंडियन मुजाहिदीन कर रहा हिंदुओं का उपयोग!

  • इंडियन मुजाहिदीन कर रहा हिंदुओं का उपयोग!
You Are HereNational
Tuesday, November 12, 2013-9:39 AM

पटना: पटना में 27 अक्टूबर को हुए शृंखलाबद्ध बम विस्फोट मामले में चार हिंदू युवाओं के पकड़े जाने के बाद सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि अधिकारी उन्हें इंडियन मुजाहिदीन से संबंधित संदिग्ध आतंकी करार देने में नरम रवैया अपना रहे हैं। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शृंखलाबद्ध विस्फोट मामले में बिहार के लखीसराय जिले से गोपाल कुमार गोयल, विकास कुमार, पवन कुमार और गणेश कुमार को गिरफ्तार किया है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के पटना में भाषण से पहले हुए विस्फोटों में सात लोग मारे गए थे और करीब 100 घायल हुए थे। मारे गए लोगों में एक संदिग्ध भी था। सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि विस्फोट के बाद जितने भी लोगों को गिरफ्तार किया गया उन्हें बेहिचक इंडियन मुजाहिदीन से संबंधित संदिग्ध आतंकी करार दिया गया। लेकिन जिन चार हिंदू युवाओं को संदिग्ध आतंकियों को आर्थिक मदद करने के आरोप में पकड़ा गया है, उन्हें ‘हवाला रैकेटियर्स’ कहा जा रहा है।

सामाजिक कार्यकर्ता अनीस अंकुर ने कहा कि ऐसा लगता है कि पुलिस और अन्य एजेंसियां सांप्रदायिक मनोवृत्ति के साथ आतंकी मामले में हिरासत में लिए गए मुस्लिमों को संदिग्ध आतंकी करार देती हैं। पटना की एक वेबसाइट ‘नौकरशाही डॉट इन’ के संपादक इरशादुल हक ने कहा, ‘‘सभी चार (हिंदू) निश्चित रूप से संदिग्ध आतंकी हैं, क्योंकि उन्हें पाकिस्तान के आईएसआई से पैसा मिलता था और वे आतंकी गतिविधि में इसे लगाते थे।’’

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हो सकता है कि इंडियन हिंदू युवाओं का इस्तेमाल कर रहे होंगे। उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है। एक खुफिया अधिकारी ने हालांकि आईएएनएस से कहा कि पुलिस या खुफिया अधिकारी इस बात को लेकर निश्चित नहीं हैं कि इन युवाओं को यह पता नहीं था कि वे इंडियन मुजाहिदीन द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You