महिला देवादेरी : जस भाजपा तस कांग्रेस

  • महिला देवादेरी : जस भाजपा तस कांग्रेस
You Are HereNcr
Tuesday, November 12, 2013-12:58 PM

नई दिल्ली (ताहिर सिद्दीकी) : विधानसभा और लोकसभा में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की जोर-शोर से वकालत करने वाली कांग्रेस खुद ही इस पर अमल नहीं कर रही है। सोमवार को देर रात जारी कांग्रेस के 56 प्रत्याशियों की सूची में चुनिंदा महिलाओं को टिकट से नवाजा गया है। यह हाल तब है जब कांग्रेस की अध्यक्ष महिला हैं और प्रदेश की मुख्यमंत्री भी। महिलाओं को टिकट देने के मामले में कांग्रेस की स्थिति भाजपा जैसी ही है। भाजपा ने 62 प्रत्याशियों में केवल 4 महिलाओं को टिकट दिया था।
 

केवल तीन पर भरोसा-
कांग्रेस ने इस बार केवल तीन महिलाओं को टिकट दिया है। मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को टिकट मिलना तय ही था। इसके अलावा प्रो.किरण वालिया और बरखा सिंह को चुनाव लड़ाने का फैसला पार्टी ने किया है। दोनों ही मुख्यमंत्री की करीबियों में शुमार हैं। इस तरह महिलाओं का प्रतिनिधित्व महज 6.5 प्रतिशत बन रहा है।
 

कई बार से महिलाओं को किया जा रहा है नजरअंदाज -
टिकट के दावेदारों में शामिल एक महिला नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पार्टी महिलाओं को टिकट देने में संकोच कर रही है। यह विगत कई विधानसभा चुनावों से होता आ रहा है। उनका दावा है कि पार्टी में महिलाओं का परफार्मेंस पुरूष नेताओं से कम नहीं है। हालांकि टिकटों के लिए ये नेता आला नेताओं के अलावा पार्टी हाईकमान के पर्यवेक्षकों के सामने पेश होकर अपनी योग्यता बता चुकी थीं। साथ ही, महिला नेता सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री के पास भी जैसे-तैसे अपने संदेश भेज चुकी थीं।

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You