मोंगा के खिलाफ प्रदर्शन से कांग्रेसी सकते में

  • मोंगा के खिलाफ प्रदर्शन से कांग्रेसी सकते में
You Are HereDelhi Election
Tuesday, November 12, 2013-2:36 PM

नई दिल्ली ( अशोक शर्मा ): कांग्रेस के नेता इस पसोपेश में पड़ गए हैं कि यमुनापार के कृष्णानगर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी डॉ. हर्षवर्धन को कड़ी टक्कर देने के लिए पार्टी द्वारा डॉ. वी.के. मोंगा को ही बनाया जाए या किसी अन्य को। पार्टी कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद इस बाबत पार्टी हाईकमान को भी जानकारी दे दी गई है। ऐसा लगता है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए यदि कांग्रेस पार्टी के ही किसी सक्रिय नेता को प्रत्याशी बना दे, तो कोई बड़ी बात नहीं होगी।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद व पार्टी के वरिष्ठ नेता संदीप दीक्षित ने भी असंतुष्ट कार्यकर्ताओं को दो-टूक कह दिया है कि उनकी भावनाओं के बारे में पार्टी के अन्य नेताओं के साथ-साथ हाईकमान को भी जानकारी दे दी गई है। उन्होंने यहां तक कहा कि पार्टी ने किसी को भी अभी तक कृष्णानगर से अधिकृत उम्मीदवार नहीं बनाया है, इस बारे में अब पार्टी हाईकमान द्वारा ही निर्णय लिया जाएगा।

दरअसल पार्टी के जिलाध्यक्ष ने रविवार को कृष्णानगर स्थित रघुनाथ मंदिर में कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया था। सम्मेलन को सम्बोधित करने के लिए सांसद संदीप दीक्षित वहां पहुंचे, तो कांग्रेस के संभावित प्रत्याशी डॉ. मोंगा भी वहां थे, उन्हें देखते ही कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध शुरू कर दिया। उत्तेजित कार्यकर्ता  दलबदलुओं को टिकट ना दें आदि जोर-जोर से नारे लगाने लगे और इससे सम्मेलन में काफी हंगामा उत्पन्न हो गया।
 

दीक्षित की उपास्थिति में हालात एक तरीके से बेकाबू हो गए। उनका कार्यक्रम मात्र 30 मिनट के लिए निर्धारित था लेकिन कार्यकर्ताओं को समझाने में दीक्षित को 3 घंटे तक वहीं ठहरने के लिए मजबूर होना पड़ा। उसके बाद ही वह अन्य कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जा सके। उत्तेजित लोगों में कृष्णानगर क्षेत्र के अंतर्गत चारों वार्डों के कार्यकत्र्ता शामिल थे, जिनकी संख्या एक से डेढ़ हजार के बीच थी।

उनका कहना था कि आखिर क्या वजह है कि 4 महीने पहले कांग्रेस में शामिल हुए व्यक्ति को ही पार्टी प्रत्याशी बनाने पर विचार कर रही है। क्या कांग्रेस के पास इलाके में कोई ऐसा नहीं है जिसे डॉ. हर्षवर्धन के खिलाफ चुनाव में उतारा जा सके। कार्यकर्ताओं का तर्क था कि कृष्णानगर में पार्टी पुराने व जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर यदि डॉ. मोंगा को खड़ा करेगी, तो उन्हें स्वीकार नहीं किया जाएगा। पार्टी को इसके गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना होगा। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You