सिर और गर्दन पर लगी चोटों की वजह से गई राखी की जान

  • सिर और गर्दन पर लगी चोटों की वजह से गई राखी की जान
You Are HereNcr
Tuesday, November 12, 2013-3:03 PM

नई दिल्ली (कृष्ण कुणाल सिंह): यूपी के बाहुबली व बसपा सासंद धनंजय की पत्नी डा. जागृति की उनकी 175 साऊथ एवेन्यू स्थित सरकारी आवास में पिटाई के कारण मारी गई नौकरानी राखी के शव पर चोट के करीब 32 निशान मिले हैं। इसमें कुछ पुराने और तो नई चोट के निशान हैं।

पोस्टमार्टम के लिए बने डाक्टरों के पैनल ने बताया कि राखी के सिर और गर्दन पर गंभीर चोट लगने के कारण राखी की मौत हुई थी। डाक्टरों का कहना है कि किसी भारी वस्तु से वार किया गया था। जिस कारण उसकी मौत हो गई थी। जांच में यह भी पता चला कि राखी के हत्या के 12 घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई थी।

ज्ञात हो राखी का शव 7 दिनों से लेडी हार्डिंग अस्पताल की मोर्चरी में पड़ा हुआ है। गत शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम हुआ था। अगर उसका बेटा शहजान शव ले लिया होता तो उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया होता।  डी.सी.पी. का कहना है कि रिपोर्ट से कोई खास लेना देना नहीं है। साफ है राखी के शरीर चोट की वजह से ही उसकी मौत हुई है।

घटना वाले दिन उसके शरीर पर 32 चोट के निशान पाए गए थे। शरीर पर कुछ नए तो कुछ पुराने घाव के निशान मिले थे। गौरतलब है कि धनंजय और जागृति को पश्चिम बंगाल निवासी उनकी 35 वर्षीय नौकरानी राखी भद्रा की हत्या के सिलसिले में 5 नवम्बर को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने अपनी एक अर्जी में कहा है कि डिजीटल वीडियो रिकॉर्डर डी.वी.आर. से उनका आमना सामना कराने के लिए आगे भी पुलिस हिरासत की जरूरत पड़ेगी। डी.वी.आर. को जांच के लिए और विशेषज्ञों की राय के लिए यहां रोहिणी स्थित फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में भेजा गया है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You