दूसरी लिस्ट के बाद भाजपा में घमासान बढऩे के आसार

  • दूसरी लिस्ट के बाद भाजपा में घमासान बढऩे के आसार
You Are HereNcr
Wednesday, November 13, 2013-11:39 AM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): काफी उठापटक व संशय के बीच भाजपा ने 7 सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा तो कर दी लेकिन दूसरी सूची के बाद पार्टी में बगावती व विरोधी तेवर और बढ़ेंगे।

तिमारपुर विधानसभा भी ऐसी ही एक सीट है, जहां से सूर्य प्रकाश खत्री काफी पहले से अपनी दावेदारी ठोक रहे हैं। उनके पक्ष में तो दिल्ली बार काऊंसिल के सदस्य न सिर्फ प्रदेश चुनाव प्रभारी नितिन गडकरी से मिल चुके हैं, बल्कि उनके समर्थन में प्रदेश भाजपा कार्यालय के बाहर जोरदार प्रदर्शन भी करते रहे हैं। लेकिन पार्टी ने पूर्व मेयर रजनी अब्बी को चुनाव लड़ाने का फैसला लिया।

आदर्श नगर विधानसभा से चूंकि कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता माने जा रहे मंगतराम सिंघल चुनाव लड़ रहे हैं, इसलिए भाजपा की ओर से इस सीट के लिए दावेदारों की संख्या ज्यादा नहीं थी लेकिन रामकिशन सिंघल के अलावा निगम पार्षद नीलम भी ताल ठोक रही थीं। यह सीट भाजपा ने पहले अकालियों को दी थी लेकिन इस बार भाजपा ने सिंघल को टिकट दिया है।

बवाना (सु.) सीट से अनु. जाति के पूर्व जिला अध्यक्ष गुग्गन सिंह को टिकट मिला है। छत्तर पुर विधानसभा से पिछले दो बार चुनाव हारे ब्रहम सिंह तंवर पर एक बार फिर दांव लगाया है, जबकि इस सीट से तंवर के अलावा मस्तराम लोहिया व कर्तार तंवर भी दावेदारी ठोक रहे थे। ओखला विधानसभा से हाल में ही एन.सी.पी. से भाजपा में शामिल हुए धीर सिंह बिधूड़ी को टिकट मिला है।

बिधूड़ी बदरपुर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी रामवीर सिंह बिधूड़ी के भाई बताए जाते हैं। इस तरह यह सीट भी बिधूड़ी बंधुओं के खाते में गई है। जबकि कांग्रेस ने यहां से आसिफ मोहम्मद खान पर दांव आजमाया है। ऐसे में भाजपा ने मुस्लिम व गुर्जर बहुल इलाके वाले इस क्षेत्र में गुर्जर नेता को उतारा है। सीमापुरी विधानसभा (सु.) से रामपाल सिंह को टिकट दिया गया है।

गुर्जरों पर पार्टी ने इस बार लगाया दांव

अगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी ने आधा दर्जन से अधिक सीट पर गूर्जर नेताओं पर दांव लगाया है। भाजपा की दूसरी सूची के 7 सीटों पर 3 गुर्जर नेता मैदान में उतारे गए हैं। छत्तरपुर, ओखला और मुस्तफाबाद से गुर्जर नेताओं को टिकट मिला है। इनमें छत्तरपुर विधानसभा के प्रत्याशी पिछले चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी बलराम तंवर से 5030 वोट से हार चुके हैं। इस बार भी दोनों प्रतिद्वंद्वी ही मैदान में हैं। गुर्जर नेताओं की बात करें तो पहली सूची में सदरबाजार से जयप्रकाश, तुगलकाबाद विधानसभा से रमेश बिधूड़ी और बदरपुर से रामवीर सिंह बिधूड़ी के नाम पर पार्टी ने सहमति जताई और मैदान में उतारा है।

नांगलोई जाट पर संशय बरकरार

भाजपा में एक सीट पर अब भी संशय बरकरार है। यह नांगलोई जाट विधानसभा सीट है जिसे पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के भाई व उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर मास्टर आजाद सिंह के अडियल रवैए की वजह से रोकना पड़ा है क्योंकि पार्टी आजाद सिंह को नांगलोई जाट विधानसभा से चुनावी मैदान में उतारना चाहती है, लेकिन वह मुंडका सीट से ताल ठोक रहे हैं, जबकि मुंडका से भाजपा पहले ही वहां के वर्तमान विधायक मनोज शौकीन को टिकट दे चुकी है। चर्चा है कि फेरबदल कर शौकीन को नांगलोई जाट तथा आजाद सिंह को उनकी मांग के मुताबिक मुंडका सीट से टिकट दी जा सकती है।




 

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You