भाजपा के 4 प्रत्याशियों ने भरे पर्चे

  • भाजपा के 4 प्रत्याशियों ने भरे पर्चे
You Are HereNcr
Wednesday, November 13, 2013-2:38 PM

नई दिल्ली : दिल्ली विधान सभा चुनाव के लिए नामांकन के तीसरे दिन मंगलवार को अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों के उम्मीदवारों ने अपना नामांकन-पत्र दाखिल किया। शाम तक कुल 32 विधान सभा क्षेत्रों से कुल 42 नामांकन-पत्र दाखिल किए गए। इनमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 4 उम्मीदवार शामिल है। तुगलकाबाद से भाजपा के रमेश विधूड़ी और गांधी नगर से भाजपा के रमेश चंद जैन ने भी भरा पर्चा दाखिल किया। शपथ-पत्र में विधूड़ी दंपति की कुल संपत्ति 15 करोड़ 72 लाख बताई गई है।

अलग-अलग जिलों में स्थित नामांकन के लिए बनाए गए रिटर्निंग ऑफिसर कार्यालयों के बाहर दिल्ली चुनाव आयोग की आदर्श चुनाव आचार संहिता को लेकर की गई सख्ती का असर साफ-साफ दिखाई दिया। अपना नामांकन-पत्र दाखिल करने के लिए घर से प्रत्याशी निकले तो बैंड-बाजे के साथ लेकिन रिटर्निंग  ऑफिसर का कार्यालय नजदीक आते ही बैंड-बाजों की आवाज बंद हो गई और गाडिय़ों का काफिला भी कार्यालयों से सौ मीटर पहले रुक गया। द्वारका से भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्न राजपूत के साथ उनकी पत्नी गायत्री राजपूत ने भी डमी प्रत्याशी के रूप में पर्चा भरा। पिछले 3 दिनों में सबसे ज्यादा नामांकन मंगलवार को दाखिल किए गए। रिटर्निंग ऑफिसर के कार्यालयों के बाहर उम्मीदवारों की भीड़ लगी रही।

हालांकि कार्यालय के भीतर प्रत्याशी के साथ सिर्फ 2-3 लोगों को जाने की ही अनुमति है। इसी के चलते उम्मीदवार अपने कुछ करीबियों के साथ ही कार्यालय के भीतर नामांकन दाखिल करने गए। आदर्श चुनाव आचार संहिता के तहत किसी भी राजनीतिक पार्टी का प्रत्याशी नामांकन दाखिल करने जाते समय 3 से अधिक वाहनों का प्रयोग नहीं कर सकता। साथ ही रिटॄनग ऑफिसर के कार्यालय से सौ मीटर पहले ही उम्मीदवार के गाडिय़ों के काफिल को रोक दिया जाता है। आयोग के मुताबिक जो भी उम्मीदवार आचार संहिता का पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा ने चुनाव आयोग से की आप की शिकायत


आम लोगों की पार्टी के नाम का झंडा उठाने वाली आम आदमी पार्टी और विवादों का रिश्ता और गहराता जा रहा है। पहले पार्टी संयोजक अरिवंद केजरीवाल अपने बयानों से विवाद में आए, फिर चुनाव पार्टी को मिल रहे विदेशी फंड से बवाल मचा और अब एक बार फिर नया विवाद खड़ा हो गया है।

यह विवाद है कि जनलोकपाल विधेयक हो लेकर, जिसे सत्ता में आने पर रामलीला मैदान में पारित कराने का वादा किया गया है। भाजपा के विदेश प्रकोष्ठ के संयोजक विजय जौली ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी से शिकायत कर कार्रवाई करने की मांग की। जौली ने शिकायत में लिखा है कि आम आदमी पार्टी सस्ती लोकप्रियता व राजनीतिक लाभ के लिए जानबूझ कर झूठे आश्वासन दे रही है जिसके अन्तर्गत दिल्ली में जीतने पर आगामी 29 दिसम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में जनलोकपाल विधेयक दिल्ली विधानसभा के सत्र में पारित करने का वादा किया है लेकिन यह दिल्ली में कानूनी तौर पर संभव नहीं है।

वर्तमान भारतीय कानून के तहत केजरीवाल व उनके साथियों द्वारा प्रस्तावित लोकपाल बिल व जनलोकपाल विधेयक किसी भी प्रकार से दिल्ली विधानसभा द्वारा पारित नहीं किया जा सकता। इसे पारित करने का विशेष अधिकार भारत की संसद के अधिकार क्षेत्र में आता है।  आम आदमी पार्टी इस तथ्य को अच्छी तरह से जानने के बावजूद अपने वेब पेज  पर तथा मीडिया के सभी साधनों में अरविन्द केजरीवाल के हवाले से लोकपाल बिल व जनलोकपाल विधेयक के मुद्दे को प्रमुख रूप से प्रचारित व उजागर कर रही हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You