कांग्रेस का आरोप, सिटीसेन्टर माल में 3,000 करोड का घोटाला

  • कांग्रेस का आरोप, सिटीसेन्टर माल में 3,000 करोड का घोटाला
You Are HereNational
Wednesday, November 13, 2013-3:38 PM

रायपुर: छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने रायपुर विकास प्राधिकरण द्वारा एक निजी कम्पनी को लीज पर दी गई जमीन पर निर्मित शापिंग माल पर 3400 करोड रूपए के ऋण के अनापत्ति प्रमाण पत्र दिए जाने पर सवाल उठाते हुए इसमें तीन हजार करोड के घोटाले का आरोप लगाया है।

महंत ने आज यहां रायपुर विकास प्रधिकरण(आरडीए) नागपुर की कम्पनी जीआईआईपीएल के बीच हुए अनुबंध समेत सम्बधित विभिन्न अभिलेखों की प्रति जारी करते हुए पत्रकारों से कहा कि इस माल की आज की कीमत 500 करोड रूपए है जबकि आरडीए द्वारा 3400 करोड रूपए के बंधक ऋण के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र बगैर माल का मूल्यांकन कराए ही जारी कर दी गई। उन्होने कहा कि भाजपा के पदाधिकारियों के कब्जे वालीआरडीए ने जानबूझकर अनापत्ति प्रमाणपत्र दिया जिससे भाजपा पदाधिकारियों की बेनामी भागीदारी वाली कम्पनी को तीन हजार करोड का अनुचित लाभ पहुंचाया।

उन्होने कहा कि बंधक रिण की अदायगी नही होने पर सरकारी क्षेत्र की बैंक का कर्ज डूबेगा जोकि राष्ट्रीय क्षति होगी। डा. महंत ने कहा कि भाजपा सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि 500 करोड के माल के लिए 3400 करोड के ऋण के लिए अनापत्ति क्यों दी गई। उन्होने इसमें बडे भाजपा नेताओं की संलिप्तता होने का आरोप लगाया। बार बार पूछने पर उन्होने किसी का नाम तो नही लिया पर कहा कि नागपुर से जुडी संस्था में कौन नाम हो सकते है यह किसी से छिपा नही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You