मध्यप्रदेश की कानून व्यवस्था चरमराई: सिंधिया

  • मध्यप्रदेश की कानून व्यवस्था चरमराई: सिंधिया
You Are HereNational
Wednesday, November 13, 2013-4:04 PM

मुरैना: केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मध्यप्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से चरमरा गई है जिससे प्रदेश में महिलायें नौजवान और पुलिस अधिकारी तक सुरक्षित नहीं है। सिंधिया यहां मेला मैदान में एक चुनावी सभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार जहां लाडली लक्ष्मी योजना का ढिढोरा पीट रही है वही प्रदेश में प्रति वर्ष 44 प्रतिशत भ्रूण हत्याएं हो रही हैं और साढ़े तीन हजार महिलाओं के साथ प्रति वर्ष दुष्कृत्य के मामले विभिन्न थानों में दर्ज है।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का प्रचार कर वाहवाही लूटने का प्रयास कर रहे हैं जबकि दतिया जिले के रतनगढ़ माता मंदिर पर प्रशासन की लापरवाही से डेढ़ सौ श्रद्धालुओं की दर्दनाक मौतों के लिए भी राज्य सरकार ही जिम्मेदार है। सिंधिया ने कहा कि राज्य सरकार जितना पैसा विज्ञापनों पर खर्च कर रही है उतना पैसा विद्युत सुधार पर करती तो एक भी घर अंधेरे में नहीं रहता राज्य में भ्रष्टाचार का यह आलम है कि एक तिहाई केबिनेट भ्रष्टाचार के मामलों में फंसी हुई है।

 

सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी द्वारा कल जारी घोषणा पत्र में जनता के लिए की गई जनहितकारी योजनाओं का विस्तार से बखान भी किया उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के दस साल के कार्यकाल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिस तरह महिलाए घर पर खाना बनाते समय रोटी को नहीं पलटे तो वे जल जाती है इस लिए वे उसे अलट-पलट करती है उसी तरह इस सरकार को भी इस चुनाव में पलटना जरूरी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You