Children's Film Festival में प्रदर्शित होंगी 200 फिल्में

  • Children's Film Festival में प्रदर्शित होंगी 200 फिल्में
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-11:31 AM

लखनऊ: भारतीय अंतर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव, हैदराबाद में 14 से 20 नवम्बर तक आयोजित किया जा रहा है। महोत्सव में विश्व के 48 देशों की कुल 200 फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा जिसे लगभग 1,50,000 बच्चे देख सकेंगे।  इसके साथ ही भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, 20 से 30 नवम्बर तक गोवा में आयोजित किया जा रहा है जिसमें देश-विदेश की लगभग 200 फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। महोत्सव में भारतीय पैनोरमा में 25 फीचर फिल्मों तथा 15 गैर-फीचर फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।

इस सम्बन्ध में पत्र सूचना कार्यालय, लखनऊ के निदेशक अरिमर्दन सिंह ने बताया, ‘‘ ‘गोल्डन ऐलीफेण्ट’ के नाम से भी जाना जाने वाला एवं हर दूसरे वर्ष आयोजित होने वाले भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव का आयोजन भारतीय बाल फिल्म सोसाइटी द्वारा किया जा रहा है, जो केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय की एक स्वायत्व संस्था है।’’ उन्होंने कहा कि इस अवसर पर पूरे हैदराबाद शहर में विभिन्न स्थानों पर दस स्क्रीनें लगाई जायेंगी जिनके माध्यम से लगभग एक लाख पचास हजार ब‘चे इन फिल्मों को देख सकेंगे।

महोत्सव में विभिन्न श्रेणियों में 16 पुरस्कार दिए जाएंगे जैसे कि एनीमेशन, बाल निर्देशक, लघु फिल्म और सजीव एक्शन इत्यादि। फिल्म समारोह में राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता और क्लासिक भारतीय बाल फिल्में भी प्रदर्शित होगी। इस फिल्मोत्सव का शुभारम्भ भारतीय बाल फिल्म सोसाइटी द्वारा तैयार फिल्म ‘गोपी गवैय्या-भागा भैय्या’ के प्रदर्शन से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फिल्मोत्सव में चेक गणराज्य की बाल फिल्मों का विशेष प्रदर्शन होगा।

महोत्सव में कुल चार अन्तर्राष्ट्रीय सजीव एक्शन, अन्तर्राष्ट्रीय एनीमेशन, लघु फिल्में और लिटिल डायरेक्टर्स, की श्रेणियों मे प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। विभिन्न देशों से बड़ी संख्या में एनीमेशन फिल्में प्राप्त होने के कारण महोत्सव में पहली बार एनीमेशन सेक्शन शामिल किया जा रहा है। समारोह में महाराष्ट्र, गुजरात, दादरा और नगर हवेली, राजस्थान, उत्तराखण्ड, अण्डमान निकोबार, हरियाणा, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर से कुल 111 बाल प्रतिनिधियों के आने की पुष्टि की जा चुकी है।

इस फिल्मोत्सव का मुख्य उद्देश्य विभिन्न देशों में बनी फिल्मों को दिखाकर बच्चों को साफ-सुथरा और स्वस्थ्य मनोरंजन उपलब्ध करवाना है। इस समारोह का समापन सबसे अ‘छी फिल्म को पुरस्कार देने एवं उसके प्रदर्शन से किया जाएगा। सिंह ने बताया, ‘‘साथ ही भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह का अयोजन अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह सचिवालय द्वारा केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तत्वावधान में गोवा सरकार एवं भारतीय फिल्म उद्योग के सहयोग से 20 से 30 नवम्बर तक गोवा में किया जा रहा है।

जिमसें विश्व भर की उत्कृष्ट फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा।’’उन्होंने बताया कि समारोह में ‘वसुघैव कुटुम्बकम’ की धारणा पर आधारित विभिन्न फिल्म प्रदर्शन कार्यक्रमों, शैक्षिक सत्रों एवं सांस्कृतिक आदान-प्रदान के द्वारा भारत एवं विश्व की वर्तमान एवं क्लासिक फिल्में प्रस्तुत की जाएंगी। इस समारोह में विभिन्न श्रेणियों के अन्तर्गत 160 विदेशी फिल्में भी प्रदर्शित की जाएगी। समारोह में हॉलीवुड कलाकार सुसान सारनडान, पटकथा लेखक माजिद-मजीदी, भारतीय अभिनेत्री रेखा और विख्यात गायिका आशा भोंसले भाग लेंगी। इस अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कुल 13.2 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दी जायेंगी।

समारोह में आठ पूर्वोत्तर राज्यों की फिल्मों के लिए एक विशेष खण्ड भी बनाया गया है। मशहूर अभिनेता मनोज कुमार उद्घाटन समारोह के दौरान अधिकारिक रूप से भारतीय पैनोरमा का शुभारम्भ करेंगे। यह पैनोरमा 25 फीचर फिल्मों तथा 15 गैर-फीचर फिल्मों पर आधारित होगा। इस समारोह में अग्रगामी फिल्म निमार्ताओं मनोज कुमार, बुद्धदेव दास गुप्ता तथा एस. शंकर को विशेष रूप से सम्मानित किया जाएगा। इस फिल्म महोत्सव के दौरान आठ पूर्वात्तर राज्यों की 19 फिल्मों द्वारा पूर्वात्तर राज्यों की परम्परा एवं संस्कृति का प्रदर्शन करने वाली फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You