‘मलाला’ थी आई एस अधिकारी दुर्गाशक्ति : किरण बेदी

  • ‘मलाला’ थी आई एस अधिकारी दुर्गाशक्ति : किरण बेदी
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-4:27 PM

नई दिल्ली: प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता एवं पूर्व आईपीएस अधिकारी किरण बेदी ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो के निदेशक रंजीत सिन्हा को बुजदिल अधिकारी बताते हुए कहा है कि अगर वह उनकी जगह होतीं तो प्रधानमंत्री द्वारा सीबीआई को सीमा में रहने की नसीहत का जवाब देती। बेदी ने आज यहां बाल दिवस के अवसर पर तालिबान को चुनौती देने वाली साहसी किशोरी मलाला युसूफ की हिन्दी में छपी जीवनी का लोकार्पण करते हुए यह बात कही। हिन्दू पाकेट बुक्स द्वारा प्रकाशित मलाला की जीवनी आशा विनोद ने लिखी है।

उन्होंने कहा कि आज देश में नौकरशाही में काम कर रही लडकियों को मलाला की तरह साहसिक होने की जरूरत है। आई एस अधिकारी दुर्गाशक्ति एक ‘मलाला’ थी पर वह चुप हो गई। अब केवल अशोक खेमका जैसे अधिकारी ‘मलाला’ की तरह साहस का परिचय दे रहे हैं और रोज गलत बातों के विरोध में बोलते रहते हैं। उन्होंने कहा कि देश में सारी गडबडियां सरकार की गलत नीतियों के कारण हुई है इसलिए प्रधानमंत्री का यह कहना ठीक नहीं कि सीबीआई नीतिगत मामलों में दखल न दे। उन्होंने कहा कि सीबीआई के निदेशक बुजदिल हैं कि उन्होंने इस बात पर चुप्पी साध ली। अगर मै उनकी जगह होती तो जरूर बोलती।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You