Subscribe Now!

नालंदा ट्रेडिशन का सबसे बड़ा खजाना: दलाई लामा

  • नालंदा ट्रेडिशन का सबसे बड़ा खजाना: दलाई लामा
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-8:27 PM

नई दिल्ली : इंदिरा गांधी नैशनल सैंटर फॉर आर्ट में ‘बौद्ध धर्म के नालंदा ट्रेडिशन’ विषय पर 2 दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस समारोह का उद्धाटन तिब्बती धर्म के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने किया।

समारोह के दौरान उन्होने कहा कि नालंदा ट्रेडिशन भारत का बहुत बड़ा खजाना है। नालंदा ट्रेडिशन में साइंटिफिक सोच की बड़ी झलक मिलती है। कहा कि नालंदा ट्रेडिशन से प्राचीन भारत में विकास की ऊंचाइयों का भी पता चलता है। उन्होंने कहा कि इस लॉजिकल सोच के बारे में लोगों को बताने की जरूरत है।

सम्मेलन के कन्वेनर बिनय के बहल ने कहा कि नालंदा के बारे में अध्ययन करना जिंदगी के बारे में जानना है। जो किसी विश्वास पर आधारित नहीं है बल्कि यह साइंटिफिक सोच और लॉजिक पेश करता है। उन्होंने कहा कि नालंदा यूनिवॢसटी भी बौद्ध के बारे में जानने का बड़ा केंद्र रही है।

वीरवार को कार्यक्रम में नालंदा के इतिहास, नालंदा की सोच सहित अन्य विषयों पर सेमिनार होंगे। जबकि शाम साढे 6बजे मोनास्टिक डांस होगा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You