दस वर्षीय बच्चे की सूझबूझ ने बचाई 22 लोगों की जान

  • दस वर्षीय बच्चे की सूझबूझ ने बचाई 22 लोगों की जान
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-9:01 PM

हावेरी: कर्नाटक में पुणे (बेंगलूर राष्ट्रीय राजमार्ग) के पास एक वोल्वो बस में आज तड़के आग लग गई लेकिन 10 वर्षीय एक बालक की अद्भुत सूझबूझ से 22 लोगों की जान बच गई। हालांकि इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई। मुंबई जाने वाली इस बस में राष्ट्रीय राजमार्ग के पास कु नीमेहाली गांव में तड़के रोड डिवाइडर से टकराने के बाद आग लग गई।

बस में झटका लगने से अपने माता-पिता के साथ बैठे आफताब की नींद टूट गई। बस में आग की लपटे देखकर उसके होश उड़ गए। लेकिन उसने बुद्धि का इस्तेमाल करते हुए बस की छत पर बनी एयर विन्डो खोल दी और बाहर आगया। वह बाहर निकलते समय लोगों को बस की छत से भागने के लिये आवाजें लगाता रहा। इसके बाद एक-एक करके 22लोग बस से सुरक्षित बाहर आ गए। लेकिन इस दुर्घटना में सात लोगों की जिन्दा जलने से मौत हो गई।

आफताब ने घटना स्थल पर पत्रकारों से कहा मुझे पता नहीं क्या हुआ। लेकिन मैने झटके के बाद जैसे ही बस में आग देखी तो बेहद डर गया। किसी तरह मैं एयर विन्डो से बाहर निकल पाया। मुझे फिलहाल अपने माता-पिता को भी ढूंढना है। इतना कहते हुए आफताब वहां से चला गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You