अगर आठ की तीव्रता वाला भूकंप आया तो आठ लाख लोग मारे जाएंगे : एनडीएमए

  • अगर आठ की तीव्रता वाला भूकंप आया तो आठ लाख लोग मारे जाएंगे : एनडीएमए
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-9:13 PM

नई दिल्ली: हिमालय के भूकंप संवेदनशील राज्यों में जम्मू-कश्मीर से अरूणाचल प्रदेश तक अगर रिक्टर स्केल पर आठ की तीव्रता वाला भूकंप आता है तो आठ लाख से ज्यादा लोग मारे जा सकते हैं। यह चेतावनी आज राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एम. शशिधर रेड्डी ने दी। भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में यहां एक स्टॉल का उद्घाटन करते हुए रेड्डी ने कहा कि दिल्ली के लोगों को प्राकृतिक आपदा के लिए तैयार रहना होगा जहां हाल में कम तीव्रता के कई भूकंप के झटके महसूस किए गए।

उन्होंने कहा कि यह अनुमान लगाना कठिन है कि भूकंप कब आएगा। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम डर पैदा नहीं करना चाहते लेकिन लोगों को सतर्क करना चाहते हैं ।’’ वर्ष 1950 से हिमालयी इलाके में कोई बड़ा भूकम्प नहीं आया है। शोध दर्शाते हैं कि हिमालयी इलाकों में आठ या इससे ज्यादा की तीव्रता वाले भूकंप के लिए काफी परिस्थितियां पैदा हो गई हैं।

एनडीएमए के उपाध्यक्ष ने कहा, ‘‘हिमालयी राज्यों में अगर आठ की तीव्रता वाला भूकंप आता है तो आठ से नौ लाख लोगों की जिंदगी जा सकती है ।’’ पूरा हिमालयी क्षेत्र भूकम्प संवेदनशील है और 1897 से 1950 के बीच 53 वर्षों के दौरान चार बड़े भूकंप : शिलांग में 1897 में, कांगड़ा - 1905, बिहार-नेपाल- 1934 और असम - 1950: आए जिनकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर आठ से ज्यादा थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You