साहित्यकार हरिकृष्ण देवसरे का निधन

  • साहित्यकार हरिकृष्ण देवसरे का निधन
You Are HereNational
Thursday, November 14, 2013-10:55 PM

नई दिल्ली : हिंदी के जाने माने साहित्यकार हरिकृष्ण देवसरे का वीरवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 75 साल के थे। उनके पुत्र शशिन देवसरे ने बताया कि उनके पिता लंबे समय से बीमार थे और उनका गाजियाबाद के इंदिरापुरम में एक अस्पताल में निधन हो गया।  देवसरे के परिवार में उनकी पत्नी के अलावा दो पुत्र और एक पुत्री हैं।

मध्य प्रदेश के नागोद में नौ मार्च 1938 को पैदा हुए देवसरे का नाम हिंदी साहित्य के अग्रणी लेखकों में था और बच्चों के लिए रचित उनके साहित्य को विशेष रूप से पसंद किया गया।  बच्चों के लिए लेखन के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें 2011 में साहित्य अकादमी बाल साहित्य लाइफटाइम पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

तीन सौ से ज्यादा पुस्तके ं लिख चुके देवसरे को बाल साहित्यकार सम्मान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के बाल साहित्य सम्मान, कीर्ति सम्मान (2001) और हिंदी अकादमी का साहित्यकार सम्मान (2004) सहित कई पुरस्कारों और सम्मानों से नवाजा गया।

बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय पत्रिका ‘पराग’ के करीब 10 साल तक संपादक रहे देवसरे को पहला वात्सल्य पुरस्कार दिया गया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You