प्रगति मैदान में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला

  • प्रगति मैदान में शुरू हुआ अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला
You Are HereNcr
Friday, November 15, 2013-11:33 AM

नई दिल्ली : 33 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला वीरवार से नई दिल्ली के प्रगति मैदान में शुरु हो गया। मेले का उद्घाटन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने किया। केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा और केंद्रीय अक्षय ऊर्जा मंत्री फारूख अब्दुल्ला भी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

भागीदार राज्य बिहार की ओर से उद्योग मंत्री रेणु कुमारी एवं फोकस राज्य ओडिशा के ऊर्जा, सूचना एवं संपर्क मंत्री कुमार साहू ने अपने अपने प्रदेशों का प्रतिनिधित्व किया। इस  अवसर पर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने कहा कि विश्व में भारत तीसरी बड़ी आर्थिक शक्ति है। भारत को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी जगह बनाने के लिए कौशल विकास एवं पेशेवर प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

आर्थिक विकास को गति देने के लिए कैशल विकास एवं नागरिकों को व्यावसायिक प्रशिक्षण देना बहुत जरुरी है, तभी हम समावेशी विकास का लक्ष्य पूरा कर सकते हैं। उन्होंने उम्मीद व्यक्त की कि 2030 तक भारत की आधी आबादी तकनीकी रुप से कुशल होगी, साथ ही भारत दुनिया में सर्वाधिक पेशेवर देश होगा।

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि हमारा इरादा एक दशक में देश की जी.डी.पी. 16 से 26 प्रतिशत करने का है। भारत शुरूआत से अन्य देशों के लिए निवेश के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है।

तब की दिल्ली, अब की दिल्ली

दिल्ली के सूचना एवं प्रचार निदेशालय ने इस बार अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में दिल्ली की छवि को खुबसूरत दिखाने एवं  आम लोगों से जुडऩे के लिए एक अनोखी प्रदर्शनी लगाई है। इस आकर्षक प्रदर्शनी में दिल्ली की ऐतिहासिक पृष्ठ भूमि, बदलते स्वरूप, यहां का रहन-सहन, लोगों की पंसद, खान-पान, भवन, बाजार, मेले-ठेले, राग-रंग, कला और संस्कृति के विभिन्न स्वरूपों को दुर्लभ चित्रों के माध्यम से दर्शाया गया है। प्रदर्शनी में एक विशाल एल.ई.डी. स्क्रीन पर 250 से अधिक दिल्ली से संबंधित चित्रों को बारी बारी दर्शकों को दिखाया जा रहा है।

वीरवार को दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव दीपक मोहन सपोलिया ने प्रगति मैदान में आयोजित भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में दिल्ली मंडप का दीप प्रज्वलित कर विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर डी.एस.आई.आई.डी.सी. के प्रबंध निदेशक अमित यादव, कला व संस्कृति विभाग के सचिव एवं निदेशक सूचना एवं प्रचार एस. एस. यादव भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर सपोलिया ने कहा कि इस वर्ष के भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले द्वारा निर्धारित थीम के अनुरूप ही दिल्ली के मंडप को सजाया व संवारा गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली मंडप के परिदृष्य को उसी रूप में सजाया गया है ताकि दर्शकों को इसमें घुसते ही दिल्ली के इतिहास, इसके बदलते रूप, इसके विभिन्न रंग, मेले-ठेले, खान-पान, कला और संस्कृति का संम्पूर्ण दर्शन हो सके।

पहले दिन भीड़ रही कम

मेले के शुरुआती 5 दिन केवल व्यापारी वर्ग के लिए होंगे, इसके चलते शुरूआती 5 दिनों तक मेले में भीड़ ज्यादा नही रहेगी। वीरवार को मेले के उद्घाटन अवसर भी मेले में भीड़ काफी कम रही। मेले के पहले 5 दिन व्यावसायिक गतिविधियों के लिए आरक्षित रहेंगे। इनके लिए प्रगति मैदान के गेट संख्या 1, 2, 7 और 10 पर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। यहां से वे टिकट व व्यापारिक कार्ड दिखाकर नि:शुल्क किट ले सकते हैं। व्यापारियों के लिए टिकट 400 रुपए प्रतिदिन और पूरे सत्र  के लिए 1,500 रुपए का होगा। मेला 19 नवम्बर से आम जनता के लिए खुलेगा और इसके बाद 27 नवम्बर तक आम लोग मेले का आनन्द ले सकेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You