विदेशी पवेलियन होंगे ट्रेड फेयर का मुख्य आकर्षण

  • विदेशी पवेलियन होंगे ट्रेड फेयर का मुख्य आकर्षण
You Are HereNcr
Friday, November 15, 2013-12:14 PM

नई दिल्ली:  एशिया का सबसे बड़ा व्यापार मेला टे्रड फेयर आधी-अधूरी तैयारियों के बीच प्रगति मैदान में शुरू हुआ। राष्ट्रपति द्वारा मेले का उद्घाटन  किए जाने के बाद मेले के दरवाजे देशी-विदेशी कारोबारियों के लिए खुल गए। पहले दिन देर शाम तक कई पवेलियनों में सामान लगाने और जमीन पर कारपेट बिछाने का कार्य पूरा नहीं हो सका था। खादी पवेलियन के कई स्टॉलों पर सामान बंधा रखा था और कई स्टॉल खाली पड़े थे। टेकमार्क के पवेलियन में तो अंदर और बाहर दोनो जगह कार्य चल रहा था।

झारखंड पवेलियन में तो देर शाम तक अधिकतर स्टॉलों को सजाने संवारने का काम चलता रहा। नए-नए आविष्कारों को दिखाने के लिए बनाया गया इनोवेशन स्टॉल पूरी तरह से खाली था और एक स्टॉल पर ही उपकरण लगाए गए थे। मगर उपकरणों की खासियत क्या है यह जानकारी देने की व्यवस्था शाम तक नहीं हो सकी थी। विदेशी पंडाल हॉल नम्बर 18 में स्टॉलों को सजाने का काम पूरा नहीं हुआ था और विदेशी स्टालों की भी सजावट जारी थी। ऐसी ही स्थिति साझेदार राज्य बिहार के स्टॉल की भी थी। जिन पवेलियनों का काम पूरा नहीं हुआ था उन पवेलियनों के अधिकारियों के   अनुसार देरी की वजह इटपो द्वारा 6 नवम्बर का हॉल मिलना है।

भारतीय रेल ने भी लगाया स्टॉल

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अरुणेन्द्र कुमार ने व्यापार मेले में भारतीय रेलवे के मंडप का उद्घाटन किया। रेलवे मंडप में पुरानी अपील के साथ आधुनिकता को शामिल किया गया है। इसमें रेलवे को पूरे देश के लोगों से जोड़ते हुए दिखाया गया है। रेलवे आवश्यक वस्तुओं को लाने ले जाने और टिकट की बुकिं ग से लेकर यात्रा के दौरान यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखती है। भारतीय अर्थव्यवस्था के एक स्तम्भ भारतीय रेलवे को हाल ही में अमरीका, चीन और रूस की तरह सलेक्ट वन बिलियन टन फ्रेट लोडिंग क्लब की सदस्यता मिली है।

मेले का मुख्य आकर्षण
मेले में 21 देशों के लगभग 260 विदेशी प्रदर्शक हॉल संख्या 6, 9 एवं 18 में अपने उत्पादों की प्रदशर्नी लगा रहे हैं। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, कंबोडिया, चीन, क्यूबा, इंडोनेशिया, लिथुआनिया, जापान व दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रीय मंडप में वहां के विभिन्न उत्पाद देखे एवं खरीदे जा सकते हैं।  मेला में विश्वस्तरीय 300 भारतीय कंपनियां भी हिस्सा ले रही हंै। करीब 800 ग्रामीण कलाकार एवं शिल्पी मेले में अपने रंगारंग कार्यक्रम पेश करेंगे।


जापानी ट्रेड पेवेलियन की रंगारंग शुरुआत

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में जापानी पवेलियन वीरवार को रंगारंग संगीत कार्यक्रम के साथ शुरू हुआ। कार्यक्रम में जापान से आए कलाकारों ने तबले की थाप के साथ अपने पारंपरिक वाद्यों से ताल से ताल मिलाई। जापान 33वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का साझीदार देश है। आधिकारिक साझीदार देश के पवेलियन में दर्शकों ने तबलावादक उस्ताद अमजद खान और जापान के शामीसेन कलाकार हिरोमित्सु अगतसुमा के बीच जुगलबंदी का आनंद लिया। अगतसुमा ने कहा, ‘मैंने इस कार्यक्रम के लिए एक अलग राग तैयार किया। इस मंच ने मुझे इस कला को बेहतर ढंग से पेश करने का अवसर दिया।’ अमजद खान ने कहा कि वह ऐसे दिन अपना कार्यक्रम पेश कर खुशी महसूस हो रही है, जब जापान दिवस मनाया जा रहा है।

पहले ही दिन बिहार को मिला 811 करोड़ रु. का निवेश प्रस्ताव

33वें व्यापार मेले में बिहार की उद्योग मंत्री रेणु कुमारी ने कहा कि 206 में उद्योगों को एकल खिड़की सुविधा शुरू किए जाने के बाद से अब तक राज्य में विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में 811 करोड़ रुपए के 767 निवेश प्रस्ताव प्राप्त हए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में औद्योगिक प्रोत्साहन की अनेक योजनाएं शुरू की गई हैं। राज्य सरकार की तरफ से नई इकाईयों को कई तरह के प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 5 वर्षों के दौरान 189 नई इकाईयां काम कर रहीं हैं और 184 इकाईयों में कार्य प्रगति पर है।  उन्होंने कहा कि राज्य में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र सहित कुल मिलाकर 767 निवेश प्रस्ताव प्राप्त हए, जिनमें 811 करोड़ रुपए के निवेश का अनुमान है। इसमें से अब तक राज्य में 1,212 करोड़ रुपए का निवेश हो चुका है। उन्होंने कहा कि राज्य में कृषि क्षेत्र को भी बढ़ावा दिया जा रहा है और अलग कृषि मंत्रिमंडल का अलग गठन किया गया है। भागलपुरी सिल्क को प्रमोट करने के लिए पवेलियन में फैशन शो का आयोजन किया जाएगा।  इस मौके पर बिहार सरकार के रेजिडेंट कमीश्नर सुनील वर्थवाल, सहित उद्योग विभाग के प्रधान सचिव नवीन वर्मा आदि मौजूद थे।

पिछले साल 15 लाख लोगों ने देखा था मेला

इण्डिया टे्रड प्रमोशन आर्गनाईजेशन (आई.टी.पी.ओ.) के रिकार्ड के मुताबिक पिछले वर्ष ट्रेड फेयर में लगभग 15 लाख लोगों ने हिस्सा लिया था। इस बार आम लोगों के लिए मेला 19 नवम्बर से खुलेगा और 27 नवम्बर तक चलेगा। आई.टी.पी.ओ. के मुताबिक इस बार 15 लाख से ज्यादा लोगों के आने की सम्भावना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You