प्रत्याशी उड़ा रहे हैं चुनाव आयोग के निर्देशों की धज्जियां

  • प्रत्याशी उड़ा रहे हैं चुनाव आयोग के निर्देशों की धज्जियां
You Are HereNational
Saturday, November 16, 2013-7:11 PM

नई दिल्ली,(धनंजय कुमार): चुनाव आयोग की सख्ती के बावजूद विधानसभा चुनाव के मैदान में उतरे प्रत्याशी आयोग के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। इन्हें न तो आयोग के निर्देशों की परवाह है और न ही बालश्रम कानून का डर।

यही वजह है कि प्रत्याशी 4-4 झंडों के साथ पदयात्रा कर रहे हैं। हैरत की बात यह है कि इन झंडों को मासूम बच्चों से उठवाया जा रहा है जिससे बालश्रम कानून का भी उल्लंघन हो रहा है, जबकि चुनाव आयोग के निर्देश के मुताबिक अपनी रैली या पदयात्रा में कोई भी प्रत्याशी 2 से ज्यादा बड़े झंडे नहीं रख सकता है। साथ ही इन झंडों को बच्चों से नहीं उठवाया जा सकता है।

चुनाव आयोग के निर्देश व बाल श्रम कानून को ठेंगा जनकपुरी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी प्रो. जगदीश मुखी की पदयात्रा में  दिखाया गया है। शुक्रवार को जनकपुरी विधानसभा अंतर्गत महावीर एंक्लेव स्थित 60 फुटा रोड पर  शाम करीब पांच बजे मुखी ने पदयात्रा निकाली थी। अपने समर्थकों के हुजूम के साथ मुखी इन इलाकों में पदयात्रा कर रहे थे जिनके साथ 4 बड़े-बड़े झंडे लिए बच्चों का काफिला भी था।

हैरत की बात यह है कि इस पदयात्रा में शामिल समर्थक इन बच्चों को रोकने के बजाय और हौसला बढ़ा रहे थे, जबकि आयोग के निर्देश के अनुसार ऐसा करना चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की श्रेणी में आता है। इस बारे में दिल्ली के मुख्य चुनाव  अधिकारी विजय देव कहते हैं इस तरह के किसी उल्लंघन को बर्दास्त नहीं किया जाएगा और प्रत्याशी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You