14 साल से सिमी का प्रचारक है उमेर

  • 14 साल से सिमी का प्रचारक है उमेर
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-9:28 AM

रायपुर: रायपुर में पकड़े गए आतंकी उमेर सिद्दीकी बीते 14 वर्षों से सिमी के अंसार (प्रचारक) पद पर काम कर रहा है। उसके घर कई खतरनाक आतंकवादियों का आना-जाना रहा है। वह देश में घूम-घूमकर प्रचार करता था। उमेर मूलत: रायपुर का ही रहने वाला है। पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार उमेर 1999 से सिमी के अंसार के पद पर है। उसका महत्वपूर्ण कार्य संगठन से लोगों को जोडऩा है और वह इस काम में माहिर भी है। वह 1999 में ही सिमी आतंकी और गोधराकांड के मुख्य आरोपी आमिल परवेज के संपर्क में आया।

 

मार्च 2011 में अहमदाबाद व जयपुर विस्फोट व इंदौर में हुई बैंक डकैती के मास्टर मांइड भोपाल निवासी अबू फैजल व इनामुर्रहमान (इकरार) एवं खंडवा निवासी मुजीब रायपुर स्थित उमेर के घर आए थे। इसी दौरान इन्होंने उमेर के साथ मिलकर छत्तीसगढ़ में सिमी संगठन को बढ़ाने व मजबूत बनाने के लिए नवापारा जंगल में प्रशिक्षण कैंप का लगाया था। इसके अलावा कई खतरनाक आतंकियों का उमेर के घर में आना-जाना रहा है।

 

उमेर का मुख्य काम सिमी संगठन व इंडियन मुजाहिदीन के फरार आतंकियों को पनाह देना है। उमेर अपने संगठन के लिए चंदा भी इकट्ठा कर आर्थिक मजबूती प्रदान करता था। पूछताछ में उमेर ने पुलिस को बताया कि चंदे की रकम 72,500 रुपए अभी भी अब्दुल वहीद के पास जमा है।

 

मुखबिर से मिली जानकारी के आधार पर आतंकियों के घर से भारी मात्रा में तलवार, जिहाद के लिए उकसाने वाली सीडी, सिमी संगठन की पत्रिकाएं एवं कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए गए हैं। पकड़े गए सभी आरोपियों के खिलाफ विधि विरुद्ध क्रियाकलाप की धारा 1967 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You