शेर-ए-पंजाब लाला लाजपतराय का बलिदान दिवस मनाया

  • शेर-ए-पंजाब लाला लाजपतराय का बलिदान दिवस मनाया
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-11:38 AM

जौनपुर: उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के सरावा गांव स्थित शहीद लालबहादुर गुप्त स्मारक पर आज हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी एवं लक्ष्मी बाई के बिग्रेड के कार्यकर्त्ताओं ने शेर-ए-पंजाब महान स्वतंत्रता सेनानी एव पंजाब केसरी के संस्थापक लाला लाजपतराय का 85वां बलिदान दिवस मनाया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओ ने शहीद स्मारक पर मोमबत्तीयां जला दो मिनट का मौन रखकर पंजाब केसरी के नाम से जाने वाले लाला लाजपत राय को अपनी भाव भीनी श्रंद्धाजलि दी।

 

शहीद स्मारक पर लोगों को सम्बोधित करती हुई लक्ष्मीबार्ई के अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा कि देश की आजादी की लड़ाई में बढ़-चढ़ कर भाग लेने वाले पंजाब केसरी के रूप में मशहूर लाला लाजपत राय ने भारत में साईमन कमीशन का जमकर विरोध किया उस दौरान अंग्रेजो ने उन्हें लाठियों से इतना पीटा कि वे गम्भीर रूप से घायल हो गए। घायलावस्था में लाला लाजपत राय ने कहा था कि मेरे खून का एक एक बूंद अंग्रेजी हुकूमत के ताबूत का आखिरी कील होगा।

 

लाला लाजपत राय उस समय पंजाब केसरी नामक अखबार निकालते थे जो इस समय बड़े पैमाने पर निकल रहा है। लाठियों की मार से एक माह के बाद लाला लाजपत राय शहीद हो गए थे। आज के ही दिन 1928 में उनका शहादत दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर  धरम सिह मंजीत कौर अनिरूद्ध सिंह व मैनेजर पाण्डेय मौजूद रहे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You