यूपी में जिंदा को मृत बता हड़प ली 40 बीघा जमीन

  • यूपी में जिंदा को मृत बता हड़प ली 40 बीघा जमीन
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-2:06 PM

बदायूं: जल्द अमीर बनने की लालसा में लोग आजकल जालसाजी के नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। ऐसा ही जालसाजी का एक मामला दातागंज तहसील में सामने आया, जहां एक महिला की 40 बीघा जमीन बरेली के एक शख्स ने उसे मृत बता कर अपने नाम करा ली। जिसे वापस हासिल करने में महिला को चार साल का वक्त लग गया।

मामला दातागंज तहसील क्षेत्र के ग्राम खोई का है। खुखरी गांव निवासी यास्मीन बेगम पत्नी सखावत कुछ वर्षों से बरेली के बारादरी में परिवार समेत रहने लगी हैं। खोई गांव में इनकी 40 बीघा जमीन है। बरेली के बारादरी निवासी खान बहादुर पुत्र बिलंद ने 24 जुलाई 2009 को तहसीलदार दातागंज की अदालत में दावा प्रस्तुत किया कि यास्मीन बेगम उसकी ताई थीं जिनकी मौत गई है।

यास्मीन को मृत घोषित करने के लिए खान बहादुर ने अदालत में शपथ पत्र के साथ बरेली नगर निगम से जारी यास्मीन बेगम का मृत्यु प्रमाण पत्र भी दाखिल किया। उसके पक्ष में बराई सेहरा गांव की रम्मो और सूफी बरेली निवासी राजाराम ने गवाही भी दे दी। जिसके बाद तहसीलदार ने 19 नवंबर 2009 को एक पक्षीय आदेश जारी कर दिया और यास्मीन बेगम की 40 बीघा जमीन खान बहादुर के नाम हो गई। यास्मीन बेगम को जब सच्चाई का पता चला तो वह भागकर दातागंज पहुंचीं और तहसीलदार अदालत में प्रस्तुत होकर अवगत कराया कि वह अभी जिंदा हैं।

अपनी ही जमीन वापस लेने के लिए यास्मीन बेगम को चार साल तक मुकदमा लडऩा पड़ा। हाल ही में तहसीलदार ने यास्मीन बेगम को जीवित मानते हुए पिछला आदेश निरस्त किया। जिसके बाद तहसील अदालत की ओर से दातागंज कोतवाली में खान बहादुर, गवाह रम्मो व राजाराम के साथ यास्मीन का मृत्यु का प्रमाण पत्र जारी करने वाले बरेली नगर निगम के अधिकारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You