संसद में लगनी चाहिए अंग्रेजी भाषणों पर रोक: मुलायम

  • संसद में लगनी चाहिए अंग्रेजी भाषणों पर रोक: मुलायम
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-4:19 PM

इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने देश में अन्य दलों के नेताओं पर हिन्दी के प्रति दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाते हुए संसद में अंग्रेजी में भाषण देने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। यादव ने इटावा हिन्दी सेवा निधि न्यास द्वारा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में योगदान करने वाले 14 लोगों को पुरस्कृत करने के सिलसिले में आयोजित 21वें सारस्वत समारोह में कहा ‘‘देश के बाकी नेताओं का हिन्दी के प्रति दोहरा चरित्र है। वे जनता से वोट तो हिन्दी बोलकर मांगते हैं लेकिन संसद में अंग्रेजी में ही बात करते हैं। इस दोहरे चरित्र से हिन्दी का उत्थान कैसे होगा।’’

मुलायम ने कहा ‘‘संसद में अंग्रेजी भाषणों पर रोक लगनी चाहिए। जिन देशों ने अपनी मातृभाषा को सरकारी कामकाज की भाषा बनाया, उन्होंने ज्यादा तरक्की की है। दूसरे देशों में हिन्दी के प्रति रुझान बढ़ रहा है जबकि हिन्दुस्तानी लोग इससे दूर हो रहे हैं।’’ हालांकि यादव ने कहा कि वह अंग्रेजी के विरोधी नहीं हैं लेकिन उन्हें महसूस होता है कि देश के राजनेता अपनी जनभाषा यानी हिन्दी को ही तवज्जो दें, ताकि संसद में उनकी बात देश की गरीब और पिछड़ी जनता को भी समझ में आए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You