कांग्रेस कर रही अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन : मोदी

  • कांग्रेस कर रही अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन : मोदी
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-6:16 PM

बेंगलुरू: भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार का लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में विश्वास नहीं है और वह सोशल मीडिया नेटवर्क पर शिकंजा कसने का प्रयास कर रही है। यहां एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाने के प्रयास में है।

उन्होंने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के टीवी चैनलों के खिलाफ उठाए गए कदम का उदाहरण दिया। मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मोदी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भाषण की तुलना करने के लिए टीवी चैनलों पर भृकुटी तानी है। मोदी ने कहा कि मंत्रालय की ओर से जारी ‘एडवाइजरी’ में कहा गया है कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री के भाषण की तुलना नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कुछ और नहीं मीडिया को धमकाने जैसा है।

भाजपा के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी बनने के बाद मोदी की कर्नाटक में यह पहली रैली थी। मोदी ने कहा कि संप्रग शासन के तहत, ‘फैक्ट्रियों में तालाबंदी हुई, रोजगार का सृजन नहीं हुआ और विद्युत उत्पादन नहीं हुआ।’ रुपए के अवमूल्यन पर उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस और रूपए में यह दौड़ चल रहा है कि कौन तेजी से गिरता है।’’ मोदी ने साफ्टवेयर उत्पाद निर्यात में आई तीव्र गिरावट को चालू खाता घाटा बढऩे की एक बड़ी वजह करार दिया।

मोदी ने संप्रग पर सूचना प्रौद्योगिकी, विज्ञान और तकनीकी को बढ़ावा न देने का आरोप लगाया। मोदी ने कर्नाटक में अपने भाषण की शुरुआत कन्नड़ में लोगों को अभिभावदन के साथ किया। उन्होंने सचिन तेंदुलकर और वैज्ञानिक सी.एन.आर. राव को भारत रत्न दिए जाने की घोषणा पर उन्हें बधाई दी। इस अवसर पर कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष प्रहलाद जोशी ने गुजरात में सरदार पटेल की प्रतिमा के लिए मोदी को 35 लाख रुपये का चेक प्रदान किया। यह राशि पार्टी कार्यकर्ताओं से जुटाई गई है। प्रत्येक पार्टी कार्यकर्ता ने इसमें 10 रुपये का योगदान दिया है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You