बुनियादी सुविधाओं का दंश झेल रहा लॉरेन्स रोड

  • बुनियादी सुविधाओं का दंश झेल रहा लॉरेन्स रोड
You Are HereNational
Sunday, November 17, 2013-8:46 PM

नई दिल्ली: त्रिनगर विधान सभा के अंतर्गत आने वाला लॉरेन्स रोड औद्योगिक क्षेत्र वर्तमान में बुनियादी सुविधाओं के दंश को झेल रहा है। खाद्य पदार्थ बनाने के लिए प्रसिद्ध यह क्षेत्र जर्जर सड़कें, पेयजल की कमी, सफाई न होना इत्यादि की समस्याओं के बीच व्यापार को मजबूर है। सरकारी योजनाएं तो बनती है लेकिन यहां पर उन्हें लागू नहीं किया जाता है। जिसके चलते वर्षों से यहां की समस्याएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।

खाद्य पदार्थों के लिए मशहूर है लॉरेन्स रोड:
80 के दशक में लॉरेन्स रोड औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किया गया था। यह प्रमुखत: खाद्य पदार्थों के निर्माण के लिए जाना जाता है। यहां पर आटा, रावा, सुजी, मकई का आटा, बाजरा से बना सामान, मैदा, चीनी आदि खाद्य पदार्थों को निर्मित किया जाता है। इसके अलावा बिस्कुट निर्माण, दाल मिलें आदि के कारखाने भी इस औद्योगिक क्षेत्र की पहचान माने जाते हैं। यहां पर लगभग एक हजार कारखाने स्थापित हैं।

सड़के जर्जर, नाले ओवर फ्लो:
साल 2008 में दिल्ली नगर निगम ने औद्योगिक क्षेत्र में सड़कों के निर्माण के लिए योजना तैयार की थी। योजना अनुसार यहां पर कार्य की शुरूआत तो की गई लेकिन निर्माणकार्य को अंजाम तक नहीं पहुंचाया जा सका।

वर्तमान में यहां की सभी सड़कें जर्जर हालात में है और मरम्मत को मोहताज पड़ी है। जिससे यहां पर मालवाहक गाडिय़ो की आवाजाही सुचारू रूप से नहीं हो पाती है। यहां के नालियों से गंदा पानी ओवर फ्लो होकर औद्योगिक क्षेत्र के सड़कों पर बदस्तूर बह रहा है। स्थानीय लोग बताते हैं कि नालों की सफाई हुए महीनों बीत चुके है। इसके अलावा यहां पर पीने के पानी की भी समस्या है। पानी की आपूर्ति न होने के कारण कारखानों में खरीदकर पानी की व्यवस्था की जाती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You