आधी आबादी को 10 प्रतिशत टिकट भी नहीं

  • आधी आबादी को 10 प्रतिशत टिकट भी नहीं
You Are HereNational
Monday, November 18, 2013-2:00 PM

नई दिल्ली (सज्जन चौधरी): दिल्ली में महिला सुरक्षा और आरक्षण के मुद्दे पर चुनाव लडऩे वाली भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी ने 10 प्रतिशत महिलाओं को भी टिकट नहीं दिया है। महिलाओं को टिकट देने में कांग्रेस ने भी भेद-भाव करते हुए महज 6 महिलाओं को टिकट दिया है।

गौरतलब है दिल्ली में 50 लाख से अधिक महिला वोटर हैं, ऐसे में महिला वोटरों का नेतृत्व करने के लिए तीनों मुख्य पार्टियों ने मिलाकर महज 16 प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। वहीं भाजपा और आम आदमी पार्टी ने 5-5 महिलाओं को टिकट दिया है।

महिलाओं को नगर निगम में 50 प्रतिशत और पार्टी में 33 प्रतिशत आरक्षण देने वाली भाजपा ने विधान सभा टिकट के लिए महज 5 महिलाओं को चुना है। आम आदमी पार्टी को भी दिल्ली की 70 विधानसभाओं में सिर्फ 5 ही प्रत्याशी मिलीं। हैरान करने वाली बात यह है कि मुख्यमंत्री शीला दीक्षित खुद अपनी पार्टी में महज 6  महिलाओं को मैदान में उतरवा पाई हैं।

दिल्ली में 51,29,490 महिला वोटर हैं। बहरहाल, देखना यह होगा कि इस बार कितनी महिलाएं विधानसभा तक पहुंचेगी। वसंत विहार गैंग-रेप के बाद दिल्ली में महिला सुरक्षा को लेकर काफी बवाल मचा था। जिसके बाद कानून और सरकारी नीतियों को बनाने में महिलाओं के दखल को लेकर खासी आवाज उठाई गई थी। तब सियासी दलों ने महिलाओं को ज्यादा टिकट देने का वायदा किया था, लेकिन नामांकन प्रक्रिया पूरी होते ही  राजनीतिक दलों के वायदों की पोल खुल गई है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You