आतंकवादियों के नेपाल भाग जाने की आशंका पर अलर्ट जारी

  • आतंकवादियों के नेपाल भाग जाने की आशंका पर अलर्ट जारी
You Are HereNational
Monday, November 18, 2013-2:25 PM

पटना: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने यह आशंका व्यक्त की है कि बिहार की राजधानी पटना और बोधगया श्रृंखलाबद्घ विस्फोट मामले के फरार आतंकवादी सीमवर्ती जिलों से नेपाल भाग सकते हैं। इसके मद्देनजर एनआईए ने बिहार पुलिस को अलर्ट भी जारी किया है।
एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि पटना विस्फोट के मुख्य षडयंत्र कर्ता तहसीन अख्तर उर्फ मोनू और हैदर अली उर्फ अब्दुल्ला के सीमावर्ती जिलों में छिपे होने की जानकारी एजेंसी को मिली थी और इसी के मद्देनजर अलर्ट जारी किया गया है। बिहार पुलिस मुख्यालय द्वारा सीमावर्ती जिलों के पुलिस अधीक्षक और सभी थानों को आतंकवादियों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि बिहार-नेपाल का सीमावर्ती क्षेत्र आतंकवादियों के लिए ‘सुरक्षित क्षेत्र’ माना जाता रहा है। इस इलाके से कई संदिग्ध आतंकवादियों की गिरफ्तारी भी की गई है। एनआईए के एक अधिकारी बताते हैं कि आतंकवादी लगातार अपना ठिकाने बदलते रहे हैं। इस बीच एनआईए ने बिहार में हुए विस्फोटों को लेकर इंडियन मुजाहिदीन (आइएम) के पांच फरार आतंकवादियों पर ईनाम घोषित कर इनकी तस्वीर जारी की है। एनआईए द्वारा जारी की गई सूची के अनुसार तहसीन उर्फ मोनू और हैदर अली (दोनों बिहार निवासी) पर 10-10 लाख रुपये का ईनाम घोषित किया गया है जबकि नुमान अंसारी, तौफीक अंसारी और मोजिबुल्ल्लाह (सभी झारखंड निवासी) पर पांच-पांच लाख रुपये का ईनाम रखा गया है।

उल्लेखनीय है कि 27 अक्टूबर को पटना के गांधी मैदान में ‘हुंकार रैली’ के दौरान हुए श्रंृखलाबद्ध विस्फोट की घटना में छह लोगों की मौत हो गई थी और 80 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इसके पूर्व सात जुलाई को बोधगया में हुए विस्फोट में दो बौद्घ भिक्षु घायल हो गए थे।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You