कर्मचारियों की हड़ताल पर सरकार ने दिए सख्ती के संकेत

  • कर्मचारियों की हड़ताल पर सरकार ने दिए सख्ती के संकेत
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-4:17 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग को लेकर राज्य कर्मचारियों की हड़ताल जारी है। हड़ताली कर्मचारियों और सरकार के बीच सुलह के प्रयास कई बार किए गए लेकिन अब तक कोई नतीजा नहीं निकला है। इस बीच, सरकार ने हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ  सख्ती बरतने के संकेत दिए हैं। यहां सभी जरूरी सेवाएं ठप हो जाने से जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है।

हड़ताली कर्मचारियों से वार्ता विफल होने के बाद अब सरकार की ओर से सख्ती बरते जाने के संकेत मिले हैं। दफ्तरों एवं अस्पतालों में उपद्रव करने वाले और दूसरे कर्मचारियों को काम करने से रोकने वालों को खिलाफ  सख्त कार्रवाई करने का आदेश जारी किया गया है। मुख्य सचिव की ओर से सभी प्रमुख सचिवों, सचिवों एवं जिलाधिकारियों को पत्र भेजकर इस बाबत निर्देश जारी कर दिया गया है। पत्र में कहा गया है कि उपद्रव करने वाले कर्मचारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए और आपराधिक मामला बनने पर लोगों के खिलाफ  प्राथमिकी दर्ज कराई जाए।

इधर, राज्य कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से राजधानी सहित सूबे के सभी प्रमुख शहरों में जनजीवन प्रभावित हुआ है। लखनऊ, आगरा, कानपुर, वाराणसी और इलाहाबाद में हड़ताल का व्यापक असर पड़ा है। स्वास्थ्य सेवाओं पर भी हड़ताल का व्यापक असर पड़ा है। अस्पतालों में कर्मचारियों के न आने से कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। लैब टेक्नीशियनों एवं नर्सों की हड़ताल की वजह से अब आपातकालीन सेवाओं पर भी इसका असर पडऩे की आशंका जाहिर की जा रही है।इस बीच, नगर निगम के कर्मचारी भी मंगलवार से दो दिन की भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। हजरतगंज में बापू की प्रतिमा के पास कर्मचारियों ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You