मैट्रो में खराबी पर श्वेत पत्र की मांग

  • मैट्रो में खराबी पर श्वेत पत्र की मांग
You Are HereNcr
Tuesday, November 19, 2013-2:13 PM

नई दिल्ली: दिल्ली मैट्रो लगातार आ रही खामियों पर भाजपा ने दिल्ली सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विजय गोयल ने मैट्रो लाइनों के रखरखाव में लापरवाही बरतने के लिए दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहराया है और इस पर श्वेत पत्र लाने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि मैट्रो आज दिल्ली के परिवहन व्यवस्था की रीढ़ बन चुकी है जिसमे हर दिन करीब 25 लाख यात्री सफर करते हैं, लेकिन इसके रख रखाव में भारी लापरवाही बरती जा रही है। नतीजा किसी भी दिन कोई बड़ा हादसा होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने एयरपोर्ट एक्सप्रैस लाइन मामले की जांच कराने की मांग भी की है।

गोयल ने कहा कि इस लाइन पर मैट्रो चलाने के लिए रिलायंस कंपनी ने यहां के विभिन्न बैंकों से 1800 करोड़  रुपए लिए थे लेकिन उन पैसों का क्या हुआ, इसका आजतक पता नहीं चल सका है। गोयल ने कहा कि  मैट्रो को दिल्ली में लाने की प्रक्रिया वर्ष 1995 में शुरू की गई थी और वर्ष 1998 में इसके निर्माण का काम शुरू किया था। तब तक तो सब कुछ ठीक था लेकिन कांग्रेस पार्टी के सत्ता में आते ही इसके निर्माण में लापरवाही शुरू हो गई। वहीं सबसे ज्यादा खामियां द्वारका-नोएडा/वैशाली लाइन पर हैं। इस लाइन पर आए दिन मैट्रो परिचालन में बाधाएं आती रहती हैं। साथ ही कई जगहों पर दरारें भी सामने आने लगी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You