दोबारा आने वाली याचिकाओं पर सख्त हुआ हाईकोर्ट

  • दोबारा आने वाली याचिकाओं पर सख्त हुआ हाईकोर्ट
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-4:43 PM

नई दिल्ली: दिल्ली उच्च न्यायालय ने उन याचिकाओं पर नाराजगी जताई है, जिनमें एक बार अदालत से निपट चुके मामलों को फिर से उठा दिया जाता है। मुख्य न्यायाधीश एन.वी.रामना व न्यायमूर्ति मनमोहन की खंडपीठने कहा कि दिन-प्रतिदिन यह चलन बढ़ता जा रहा है जिनमें  याचिकाएं दायर कर उन मामलों को फिर से उठा दिया जाता है जो एक बार निपट चुके हैं।

खंडपीठ ने कहा कि अगर इस गलत चलन पर अभी से नियंत्रण नहीं लगाया गया तो आगे आने वाले समय में इससे कानून का दुरूपयोग शुरू हो जाएगा। अदालत ने कहा कि उनका मानना हैकि जब एक मामले का अदालत एक बार निपटारा कर चुकी है तो उसके बाद उसे फिर से उठाना कानून का दुरूपयोग करना है।

इतना ही नहीं फर्जी याचिकाएं भी कानून का दुरूपयोग ही करती हैं। अदालत ने यह टिप्पणी मुडंका गांव के कुल लोगों की तरफ से दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए की है। इस याचिका में उन्होंने एक सदस्यीय खंडपीठ के आदेश को चुनौती दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You