...अब बेघर भी चुन सकेंगे अपना प्रतिनिध

  • ...अब बेघर भी चुन सकेंगे अपना प्रतिनिध
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-7:57 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): इस विधानसभा चुनाव में दिल्ली के करीब 60 हजार से ज्यादा बेघर लोग मतदान करेंगे। जिन्हें दिल्ली निर्वाचन आयोग ने पहली बार यह मौका दिया है। विधानसभा चुनाव के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब बेघर भी अपना प्रतिनिध चुनेंगे।

 चुनाव के बाद बेघरों द्वारा चुने गए प्रतिनिधि इनके भविष्य के बारे में क्या फैसला लेंगे ये तो वक्त ही बताएगा। लेकिन इतना तो तय है कि इस फैसले से इन बेघरों को ना केवल आपनी पहचान और मतदान करने का अधिकार मिला है, बल्कि मतदाता पहचान पत्र बनने के बाद अब इनके बच्चों का दाखिला स्कूलों में भी हो सकेगा।

 चुनाव आयोग के इस प्रयास से राजधानी में रह रहे हजारों बेघर काफी खुश हैं। उनका कहना है कि पहचान पत्र बनाकर चुनाव आयोग ने हमारे पूर्व जन्म में किए कर्मों की सजा पर मरहम लगाया है और हम इस बार के विधानसभा चुनाव ही नहीं, दिल्ली के सभी चुनाव में बढ़-चढ़कर मतदान करेंगे।

हमें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि चुनाव के बाद हमारे प्रतिनिधि हमारा कितना भला करेंगे, लेकिन हमें इस बात पर गर्व है कि देश का नागरिक होने का प्रमाण हमारे पास है। 4 दिसम्बर को होने जा रहे विधानसभाा चुनाव में बेघर भी मतदान करेंगे।

दिल्ली सरकार के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में बेघरों की संख्या 60 हजार से एक लाख के बीच हैं। लगभग 7249 बेघरों का मतदाता पहचान पत्र बनाया जा चुका है। पहचान पत्र परपते के जगह इनके उस ठिकाने को दिखाया गया है, जहां वे रहते हैं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You