व्यवस्थाए न सुधरने पर पनपता है नक्सलवाद : मायावती

  • व्यवस्थाए न सुधरने पर पनपता है नक्सलवाद : मायावती
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-9:12 PM

छतरपुर : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने आज कहा कि दलितों आदिवासियों तथा गरीबों के लिये व्यवस्थायें सही न होने पर वे नक्सलवाद जैसे गलत रास्तों पर चलने को मजबूर होते हैं। सुश्री मायावती यहां बाबूराम चतुर्तेदी स्टेडियम में बसपा की चुनावी सभा को संबोधित कर रही थी1 इस मौके पर बसपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद सतीचंद्र मिश्र और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजाराम भी मौजूद थे।

सुश्री मायावती ने कांग्रेस नीत केन्द्र सरकार पर भी बरसते हुए कहा कि भूमि अधिग्रहण विधेयक में दलितों और आदिवासियों के लिये कोई व्यवस्था नहीं की गई.जबकि उन्होंने विधेयक पर बहस के दौरान संसद में गरीब दलित आदिवासी और पिछडे भूमिहीन के लिये तीन-तीन एकड जमीन देने का प्रस्ताव रखा था लेकिन केंद्र सरकार ने विधेयक में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं की। ऐसे रवैये से दुखी होकर वंचित लोग गलत रास्तों पर चले जाते है। उन्होंने आदिवासी बहुल राज्यों में नेताओं,अफसरों और जनता पर नक्सलवादियों के हमले का खासतौर पर जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि सच्चर कमेटी की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि मुस्लिम तथा एवं अन्य अल्पसंख्यकों की आॢथक स्थिति ठीक नहीं है फिर भी सरकार ने सुधार के लिये ठोस कदम नहीं उठाये।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You