मिजोरम में मतदान के पहले चरण में होगा VVPAT का उपयोग

  • मिजोरम में मतदान के पहले चरण में होगा VVPAT का उपयोग
You Are HereNational
Wednesday, November 20, 2013-11:49 AM

एजल: देश में पहली बार मिजोरम विधानसभा चुनाव में मतदान के पहले चरण में ‘‘वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रायल’’ (वीवीपीएटी) का व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाएगा। चुनाव आयोग मतदाताओं के लिए इसका उपयोग आसान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। वीवीपीएटी वास्तव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से जुड़ी एक मशीन है जिसकी मदद से मतदाता यह जांच सकता है कि उसका मतदान उसकी इच्छा के अनुरूप हुआ है या नहीं। मतदाता के मतदान करने के तत्काल बाद वीवीपीएटी शीशे से ढके एक स्क्रीन पर चुनाव चिह्न तथा उस प्रत्याशी के नाम के साथ एक नन्हीं पर्ची मतपत्र के रूप में दिखाएगा जिसे वोट दिया गया हो।

 

इसके बाद मात्र 3 से 4 सेकंड के अंदर यह पर्ची साथ में लगे बंद बक्से में चली जाएगी।  कुल 40 विधानसभा सीटों वाले एजल जिले की दस विधानसभा सीटों में ही वीवीपीएटी का उपयोग किया जा रहा है। वीवीपीएटी प्रणाली का पहला प्रायोगिक उपयोग हाल ही में नगालैंड के नोकसेन विधानसभा क्षेत्र में हुए उपचुनाव में किया गया था। अब मिजोरम पहला राज्य होगा जहां इसका बड़े पैमाने पर उपयोग होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You