पतंजलि योग ट्रस्ट के खिलाफ 81 मामले दर्ज

  • पतंजलि योग ट्रस्ट के खिलाफ 81 मामले दर्ज
You Are HereNational
Wednesday, November 20, 2013-8:11 PM

देहरादून: उत्तराखंड में योग गुरू बाबा रामदेव के पतंजलि योग ट्रस्ट के खिलाफ भूमि कानून के उल्लंघन और स्टांप शुल्क की चोरी के मामले में कुल 81 मामले दर्ज किए गए हैं और कार्यवाई शुरू कर दी गई है। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने आज यहां संवाददाताओं को बताया कि हरिद्वार की जिलाधिकारी निधि पांडेय ने राज्य सरकार को सूचित किया है कि पतंजलि योग ट्रस्ट के खिलाफ जमींदारी उन्मूलन और भूमि सुधार कानून के विभिन्न धाराओं के तहत 27 मामले दर्ज किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि इस मामलों में दोषी पाये जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ भी कडी कार्रवाई की जाएगी। बहुगुणा ने बताया कि ट्रस्ट के खिलाफ भारतीय स्टांप कानून के तहत लगभग 52 मामले दर्ज किए गए हैं। ट्रस्ट द्वारा स्टांप शुल्क की चोरी से राज्य को 10 करोड रुपए के राजस्व की क्षति हुए है। इसके अलावा भी कुछ अन्य कानूनों के तहत मामले दर्ज किये गये हैं। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह कुछ और नये मामले दर्ज किए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि सुश्री पांडेय ने ट्रस्ट की ओर से किये गए कई बेनामी लेनदेन के लिए भी नोटिस भेजा है। इन मामलों में जांच शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि औरंगाबाद और तेलीवाला गांव में पतंजलि विश्वविद्यालय के निर्माण के लिये 387.5 एकड भूमि का अधिग्रहण किया गया था लेकिन संस्थान के लिए जमीन के बहुत छोटे हिस्से का इस्तेमाल किया गया जबकि शेष जमीन पर खेती की जा रही है। प्रशासन ने आशंका जतायी है कि इस जमीन का भूमि बैंक के तौर पर रखा जा रहा है जिसका भविष्य में व्यावसायिक इस्तेमाल किया जा सकता है।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You