शिक्षा एवं ज्ञान पाने का साधन हैं स्मार्टफोन: शिवराज

  • शिक्षा एवं ज्ञान पाने का साधन हैं स्मार्टफोन: शिवराज
You Are HereNational
Thursday, November 21, 2013-10:25 AM

सरदारपुर/धार: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छात्रों को स्मार्टफोन बांटने के अपने चुनावी वादे को चुनावी शिगूफा मानने से इंकार करते हुए कहा कि स्मार्ट फोन शिक्षा और ज्ञान का साधन है तथा ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था में यह कदम एक क्रांतिकारी पहल साबित होगा। चौहान ने राज्य विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार अभियान के दौरान कहा कि स्मार्टफोन बांटना कोई चुनावी शिगूफा नहीं है। समय के जैसे-जैसे तकनीकी आधुनिकीकरण हो रहा है।

 

वैसे-वैसे उपकरणों की उपयोगिता और प्रयोग बढ़ रहे हैं। इसी क्रम में कभी संचार साधन माने जाने वाले मोबाइल फोन के उपयोग भी बढ़े हैं और अब वह मात्र संचार ही नहीं बल्कि ज्ञान एवं शिक्षा के उपकरण के तौर भी इस्तेमाल किये जा रहे हैं। एक प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्टफोन योजना पर करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

 

राज्य सरकार इसे वहन करने में सक्षम है। उन्होंने इस बात से इन्कार किया कि उन्होंने यह योजना किसी अन्य राज्य की देखा-देखी शुरू की है। उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन बांटने की योजना बनाने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You