आतंकी तहसीन और हैदर का पाकिस्तान से तार

  • आतंकी तहसीन और हैदर का पाकिस्तान से तार
You Are HereNational
Friday, November 22, 2013-2:09 PM

पटना:  बोधगया और पटना समेत देश के कई बड़े शहरों में हुए विस्फोट की घटना की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की मोस्टवांटेड की सूची मे शामिल इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) के तहसीन अख्तर उर्फ मोनू और हैदर अली का पाकिस्तान से तार जुड़े होने का प्रमाण मिला है। बिहार की पटना पुलिस ने गांधी मैदान थाना में आतंकी तहसीन और हैदर अली तथा अन्य के  खिलाफ दर्ज किये गये ताजा मामले में इन दोनों पर अपने संगठन के लिए पाकिस्तान स्थित आंकाओं से आॢथक मदद लेने का खुलासा किया है । दर्ज मामले में कहा गया है कि आईएम पाकिस्तान स्थित अपने आंकाओं से आॢथक एवं अन्य सहयोग लेकर बिहार में अलग-अलग जगहों पर बम विस्फोट कर आतंकी गतिविधियो को फैलाना चाह रहा है। 

आईएम अपने प्रतिबंधित संगठन में नये सदस्यों को जोडऩे का प्रयास कर रहा है । संगठन के विस्तार के लिए पाकिस्तान स्थित आंकाओं से हवाला के माध्यम से रूपये मंगवाये जा रहे है। पाकिस्तान से रूपये आने के बाद संगठन के सदस्य राज्य के विभिन्न जिलों में बैठक कर आतंकी हमला करने की साजिश रच रहे है। बैठक में इस संगठन से जुड़े नये युवकों को ही शामिल किया जाता है ।  पटना पुलिस उक्त प्रतिबंधित संगठन के सक्रिय सदस्यों की तलाश में छापेमारी करने में भी लगी हुई है ।

ऐसी संभावना है कि हवाला के माध्यम से पाकिस्तान से करोड़ों रूपये की राशि लेन देन किये जाने के मामले में लखीसराय पुलिस द्वारा मंगलोर से गिरफ्तार आयशा बेगम और उसके पति जुबैर समेत कुछ अन्य को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी ।  लखीसराय से आयशा के करीबी विजय कुमार गोयल। पवन कुमार ।विकास कुमार और गणेश प्रसाद को पिछले आठ नवम्बर को पुलिस ने शहर से गिरफ्तार किया था । इसके बाद बिहार पुलिस ने आयशा और उसके पति को मंगलोर से गिरफ्तार कर यहां लायी थी और गहन पूछताछ की थी । पूछताछ के क्रम में दंपत्ति ने पुलिस को कई अहम जानकारियों भी दी थी ।

 आयशा और उसके पति से पूछताछ में यह खुलासा हुआ था कि हवाला के माध्यम से पाकिस्तान से आने वाली राशि का एक बड़ा हिस्सा आतंकियों तक पहुंचाया जाता है । हवाला की राशि को पहुंचाने के लिए दूसरों के नाम पर फर्जी तरीके से बैंको में खाते खुलवाये जाते है जिनमें पाकिस्तान से राशि भेजी जाती है ।पाकिस्तान से बैंकों में राशि पहुंचने के बाद उसे मंगलोर की रहने वाली आयशा बेगम के खाते में इंटरनेट बैकिंग या चेक के जरिये ट्रांसफर किया जाता था ।

उल्लेखनीय है कि लखीसराय से गिरफ्तार गोपाल कुमार गोयल के पास से एक मोबाइल फोन पुलिस ने बरामद किया था जिसमें पाकिस्तान के मोबाइल नम्बर समेत पाक के 39 फोन नम्बर भी मिले थे । इसी के बाद पुलिस ने आयशा बेगम समेत इससे जुड़े लोगों को गिरफ्तार कर हवाला मामले का खुलासा किया था ।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You