बोधगया, पटना विस्फोटों के बाद बिहार में एटीएस गठित

  • बोधगया, पटना विस्फोटों के बाद बिहार में एटीएस गठित
You Are HereNational
Friday, November 22, 2013-4:49 PM

पटना: बोधगया और पटना में सिलसिलेवार बम विस्फोटों के बाद बिहार सरकार ने आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) के गठन की दिशा में पहला कदम उठा लिया है। बिहार में एटीएस के लिए महानिरीक्षक (आईजी) की नियुक्ति कर दी गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया, ‘बहुप्रतीक्षित बिहार एटीएस शीघ्र ही मूर्त रूप लेगा। सरकार ने वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी परेश सक्सेना को एटीएस का आईजी बनाने का फैसला कर लिया है।’ यह नियुक्ति गुरुवार को की गई। कर्मचारियों के चयन और उनके प्रशिक्षण का कार्य भी शीघ्र ही शुरू होगा।

एटीएस में महानिरीक्षक के अलावा एक उप महानिरीक्षक, एक पुलिस अधीक्षक और छह सब इंस्पेक्टर होंगे। सरकार ने एटीएस के लिए 344 पदों को स्वीकृति दी है। अधिकारियों के अनुसार एटीएस पर प्रतिवर्ष 18.13 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। इस महीने के आरंभ में ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की थी कि एटीएस के गठन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। राज्य मंत्रिमंडल ने सात जुलाई को बोधगया के महाबोधि मंदिर में विस्फोटों के बाद एटीएस के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। पटना के गांधी मैदान में 27 अक्टूबर को भारतीय जनता पार्टी की रैली के दौरान भी सिलसिलेवार बम विस्फोट हुए। इसमें एक संदिग्ध आतंकवादी सहित सात लोगों की मौत हुई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You