चारा घोटाला में नीतीश के खिलाफ सबूत नहीं: सीबीआई

  • चारा घोटाला में नीतीश के खिलाफ सबूत नहीं: सीबीआई
You Are HereNational
Saturday, November 23, 2013-11:03 AM

रांची: सीबीआई ने झारखंड उच्च न्यायालय से कहा कि 950 करोड़ रपए के चारा घोटाले में उसे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू नेता शिवानंद तिवारी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं। न्यायमूर्ति आरआर प्रसाद के न्यायालय ने 20 सितंबर को सीबीआई को एक रिट याचिका पर जवाबी हलफनामे दायर करने के निर्देश दिए थे। याचिका में कुमार और तिवारी को घोटाले में आरोपी बनाने की मांग की थी। इसके जवाब में सीबीआई ने कहा कि उसे आगे की कारवाई के लिए कोई सबूत नहीं मिले हैं। अपनी संक्षिप्त जवाब में सीबीआई ने बताया कि कैसे इस याचिकाकर्ता की इसी मामले से जुड़ी याचिका निचली अदालतों में भी कई बार खारिज कर दी गई थी।

सीबीआई ने सितंबर के आखिरी हफ्ते में जवाबी हलफनामा दायर करने की योजना बनायी थी लेकिन उसने जवाबी हलफनामा आज दायर किया। सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यहां प्रेट्र को बताया, ‘‘हमने मुख्य कार्यालय की मंजूरी से संक्षिप्त हलफनामा दायर किया है।’’ अदालत ने याचिकाकर्ता को 13 दिसंबर तक किसी भी तरह का सबूत देने के निर्देश दिए हैं। याचिकाकर्ता मिथिलेश कुमार सिंह ने एक जनहित याचिका दायर करते हुए अदालत से मांग की थी कि कुमार और तिवारी को पशुपालन विभाग के घोटाले में आरोपी बनाया जाए। उसने दोनों पर पैसे लेने का आरोप लगाया था। सीबीआई ने इसे लेकर अपना जवाब दिया। करीब तीन महीने पहले एक निचली अदालत ने याचिकाकर्ता की जनहित याचिका खारिज कर दी थी जिसके बाद उसने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You