नोट के बदले वोट मामले में सारे नेता आरोप मुक्त

  • नोट के बदले वोट मामले में सारे नेता आरोप मुक्त
You Are HereNational
Saturday, November 23, 2013-12:12 PM

नई दिल्ली : वर्ष 2008 के नोट के बदले वोट मामले में आरोपी पूर्व सपा नेता अमर सिंह, भाजपा के 2  सांसद, भाजपा वरिष्ठ नेता एल.के. अडवाणी के नजदीकी सुधींद्र कुलकर्णी व 2 अन्य को राहत देते हुए दिल्ली की अदालत ने आरोप मुक्त कर दिया है।

हालांकि इस मामले में अदालत ने अमर सिंह के पूर्व नजदीकी संजीव सक्सेना के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत आरोप तय करने का आदेश दिया है। विशेष जज नरोत्तम कौशल ने अमर सिंह व सुधींद्र कुलकर्णी के अलावा भाजपा के सांसद अशोक अर्गल व फग्गन सिंह कुलस्ते, भाजपा के पूर्व सांसद महाबीर सिंह भगौरा ,भाजपा कार्यकत्र्ता सुहेल हिंदुस्तानी को आरोप मुक्त कर दिया है।

अदालत ने अमर सिंह को आरोप मुक्त करते हुए कहा है कि परिस्थितिजन्य साक्ष्य संदेहपूर्ण हैं। वहीं, कुलकर्णी ने सिर्फ टी.वी. चैनल की टीम को अर्गल, कुलस्ते व भगौरा से मिलवाया था। इसके अलावा उसके खिलाफ कोई सीधे तौर पर सबूत नहीं हैं। इतना ही नहीं, उसने टी.वी. की टीम को संसद में चल रही घोड़ों की ट्रैङ्क्षडग को उजागर करने के लिए मिलवाया था।

 वहीं, अर्गल, कुलस्ते व भगौरा के मामले में अदालत ने कहा कि उन्होंने टी.वी. की टीम को बुलाया था पंरतु इसका मतलब यह नहीं है कि वह किसी अवैध गतिविधि में शामिल थे। न ही सुहेल के खिलाफ कोई प्रत्यक्ष साक्ष्य मिले हैं। पुलिस ने अगस्त 2011 में इस मामले में अदालत में अपना आरोप पत्र दायर किया था। पुलिस का आरोप था कि अमर सिंह व कुलकर्णी ने षड्यंत्र रचा और इस अपराध को अंजाम दिया।

मालूम हो कि 22 जुलाई 2008 को कुछ भाजपा सांसदों ने संसद भवन में नोटों के बंडल से भरा बैग लोकसभा अध्यक्ष के समक्ष दिखाया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि यह पैसा यू.पी.ए. सरकार के पक्ष में वोट डालने की एवज में उनको दिया गया है। पुलिस ने उक्त मामले में पूर्व सपा नेता अमर सिंह, सुधींद्र कुलकर्णी, सांसद अशोक अर्गल, पूर्व सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते, महाबीर सिंह भगौरा, संजीव सक्सेना और भाजपा कार्यकत्र्ता सुहेल हिंदुस्तानी को आरोपी बनाया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You