तहलका केस: होटल के लिफ्ट में नहीं लगा था कैमरा: पुलिस

  • तहलका केस: होटल के लिफ्ट में नहीं लगा था कैमरा: पुलिस
You Are HereNational
Saturday, November 23, 2013-3:19 PM

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने आज कहा कि वह तहलका के संपादक तरुण तेजपाल पर लगे यौन उत्पीड़ऩ़ के आरोपों की जांच के लिए आज यहां पहुंचे गोवा पुलिस के विशेष जांच दल को पूरा सहयोग देगी। दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि गोवा पुलिस का दल सबसे पहले तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चटर्जी से मिलकर उनका बयान दर्ज करेगा और पीड़िता का ईमेल प्राप्त करेगा जिसमें उसने तेजपाल के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़ऩ़ की शिकायत की थी। पत्रकार ने करीब एक पखवाड़ा पहले गोवा में एक समारोह के दौरान हुई घटना के बारे में तहलका प्रबंधन को ईमेल भेजा था। पुलिस का दल तेजपाल पर लगे आरोपों के मामले में उनके जवाब की प्रति भी हासिल करेगा। दिल्ली पुलिस ने कहा कि उसकी अपराध जांच शाखा गोवा पुलिस के विशेष जांच दल की मदद करेगी और उसे हर प्रकार का सहयोग देगी। दिल्ली पुलिस एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ हम उन्हें पूरा सहयोग मुहैया कराएंगे।’’दल के पीड़िता से भी मिलने की संभावना है और वह उसका स्वतंत्र बयान लेने की कोशिश करेगा।  गोवा पुलिस ने तेजपाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार), 376-2 अपने रतबे का फायदा उठाते हुए किसी व्यक्ति द्वारा किसी महिला से (बलात्कार) और 354 (शील भंग करने) के तहत मामला दर्ज किया है।


वहीं दूसरी ओर,  पुलिस ने शनिवार को बताया कि पत्रिका की महिला कर्मचारी ने जिस होटल में तेजपाल के खिलाफ यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाया गया था, उसके लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा हुआ था।  पुलिस उप महानिरीक्षक ओ.पी.मिश्रा ने पुलिस मुख्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान संवाददाताओं को बताया, ‘‘लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा हुआ है।’’ पीड़िता ने तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी से की गई शिकायत में तेजपाल पर पांच सितारा रिजार्ट ग्रांड हयात के क्लब हाउस के लिफ्ट में दो बार यौन उत्पीडऩ किए जाने का आरोप लगाया था। यह घटना थिंक फेस्ट सम्मेलन के दौरान सात-आठ नवंबर को हुई थी। तेजपाल ने शुक्रवार को बयान जारी कर जांचकर्ताओं से सीसीटीवी के दृश्य की जांच करने और इसे जारी करने का अनुरोध किया था ताकि घटना की वास्तविकता सामने आ सके। मिश्रा ने कहा, ‘‘जांच चल रही है, इसलिए हम और किसी सूचना का खुलासा नहीं कर सकते।’’ सूत्रों ने हालांकि, यह बताया है कि लिफ्ट के बाहर लगे कैमरे में पीड़िता को एक बार लिफ्ट से हड़बड़ी में बाहर आते देखा गया है। गोवा पुलिस की टीम मामले के संबंध में सबूत एकत्र करने के लिए दिल्ली आई है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You