दिल्ली में अपराध से निपटने के लिए तैयार करेंगे महिला कमांडो: भाजपा

  • दिल्ली में अपराध से निपटने के लिए तैयार करेंगे महिला कमांडो: भाजपा
You Are HereNational
Sunday, November 24, 2013-2:01 PM

नई दिल्ली: दिल्ली में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध से चिंतित भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता में आने पर ऐसे मामलों से निपटने के लिए महिला कमांडो बल तैयार करने और फास्ट ट्रैक कोर्ट शुरू करने का वादा किया है।

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में दिल्ली के विकास के लिए पार्टी के पास महत्वाकांक्षी योजनाएं है और इसे पार्टी ‘दुष्कर्म की राजधानी’ से छुटकारा दिलाना चाहती है, जिसके बारे में उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के शासनकाल में यह दर्जा मिला है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे से निपटना ‘शीर्ष प्राथमिकता’ है।

दिल्ली में अगली सरकार बनने पर महिलाओं के खिलाफ अपराध से निपटने के लिए पार्टी फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन की कोशिश करेगी, जहां पर वह 15 साल से सत्ता से बाहर है।

राष्ट्रीय राजधानी में कानून और व्यवस्था केंद्र देखता है। पार्टी की सफलता के प्रति आश्वस्त दिल्ली में पार्टी मामलों के प्रभारी गडकरी ने कहा कि शीला दीक्षित सरकार महंगाई समेत कई मुद्दों के कारण सत्ता विरोधी लहर का सामना कर रही है।

महंगे प्याज के कारण लोगों में पैदा हुए आक्रोश के कारण कांग्रेस 1998 में सत्ता में आई। दिल्ली चुनावों में भाजपा के अभियान पर गौर कर रहे गडकरी ने इन खबरों को खारिज किया कि आम आदमी पार्टी उनकी पार्टी की संभावनाओं पर पानी फेर सकती है।

गडकरी ने कहा, ‘‘अन्ना हजारे को ही जब ‘आप’ पर कोई भरोसा नहीं है तो लोग कैसे इस पर विश्वास करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) का दावा है कि पार्टी आम आदमी की है लेकिन टिकट करोड़पतियों को दिए गए। अपने हलफनामे में आप की उम्मीदवार शाजिया इल्मी ने अपनी संपत्ति 32 करोड़ रूपये घोषित की है।

गडकरी ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के सदस्यों ने हर वक्त भाजपा और कांग्रेस पर निशाना साधा लेकिन आप ने उनको टिकट दिया जिन्हें भाजपा ने टिकट देने से इंकार किया।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि आप, कांग्रेस की बी-टीम है और कांग्रेस सांसद संदीप दीक्षित के साथ करीबी तालमेल से काम कर रही है। उन्होंने दावा किया ‘कांग्रेस कई तरीके से आप की मदद कर रही है।’

चुनावों में आप की संभावनाओं के बारे में भाजपा की क्या राय है इस पर गडकरी ने कहा, ‘‘यह जीतने नहीं जा रही बल्कि वोटकटवा (वोट काटने वाली) बनेगी।’’

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने दिल्ली के लिए कांग्रेस और आप के घोषणापत्रों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी के खिलाफ बहुत ज्यादा गुस्सा है। सत्ता में आने के 100 दिन के भीतर महंगाई को काबू में करने और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के अपने वादों को पूरा करने में नाकाम रही है इसलिए उनके घोषणापत्रों की कोई साख नहीं है।’’

गडकरी ने कहा, ‘‘जहां तक आप की बात है हर कोई जानता है कि वे सत्ता में नहीं आ रहे इसलिए उनके घोषणापत्र का कोई मतलब नहीं है।’’ टिकट वितरण को लेकर भाजपा के एक धड़े में असंतोष के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने शुरूआत में तो पार्टी में किसी रोष से इंकार किया, लेकिन दावा किया कि अब यह खत्म हो चुका है। उन्होंने उल्लेख किया कि 70 विधानसभा सीटों के लिए 1500 लोग टिकट चाह रहे थे और ऐसे में हर किसी को संतुष्ट करना कठिन था।

गडकरी ने कहा, ‘‘कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में हर सीट के लिए तीन बेहतर उम्मीदवार थे और इस पर फैसला करना काफी कठिन था। लेकिन, टिकट वितरण की प्रक्रिया लोकतांत्रिक और निष्पक्ष तरीके से संपन्न हुयी।’’ साथ ही कहा कि ‘टिकट बेचे’ जाने का भी कोई आरोप नहीं है।

हरीनगर विधायक हरशरण सिंह बल्ली को टिकट देने से इंकार किये जाने के भाजपा के फैसले पर उन्होंने कहा, ‘‘मुझे दुख है कि हम बल्ली को टिकट नहीं दे पाए। लेकिन, कांग्रेस द्वारा उन्हें टिकट दिया जाना दिखाता है कि उनके पास उस सीट के लिए जीतने वाला उम्मीदवार नहीं है।’’

पार्टी दिल्ली में बिहार और पूर्वी उत्तरप्रदेश की पूर्वांचल की आबादी को भी लुभाने की कोशिश कर रही है। गडकरी ने कहा, ‘‘हमने इस बार पांच पूर्वांचलियों को टिकट दिया है जबकि पिछले चुनाव में हमने केवल एक को ही मैदान में उतारा था।’’ भाजपा ने भोजपुरी गायक-अभिनेता मनोज तिवारी को भी पार्टी में शामिल किया है।

 सत्ता में आने पर भाजपा की यमुना की सफाई की भी एक बड़ी योजना है। उन्होंने कहा, ‘‘सत्ता में आने के तीन साल के भीतर हमारी योजना यमुना को प्रदूषण मुक्त बनाने और उद्योग व बिजली परियोजनाओं के लिए रीसाइक्लिंग की सुविधा शुरू करने की है।’’
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You