मप्र चुनाव : 35 जिलों की सीमाएं सील, आज होंगे चुनाव

  • मप्र चुनाव : 35 जिलों की सीमाएं सील, आज होंगे चुनाव
You Are HereNational
Sunday, November 24, 2013-8:17 PM

भोपाल: मध्य प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर सोमवार को एक चरण में चुनाव कराए जाएंगे, जिसमें 2,586 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं। राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं और सीमावर्ती 35 जिलों की सीमाओं को सील कर दिया गया है। राज्य विधानसभा चुनाव में सोमवार को चार करोड़ 66 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

राज्य में 53,946 मतदान केंद्रों में 14,950 मतदान केंद्र संवेदनशील घोषित किए गए हैं। इसके अलावा 60 विधानसभा क्षेत्र रुपयों के लेन-देन को लेकर संवेदनशील घोषित किए गए हैं। राज्य के 230 विधानसभा क्षेत्रों में से 227 में सुबह 8.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक मतदान कराया जाएगा, जबकि नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों- बैहर, लांजी व परसवाड़ा में सुबह 7.00 बजे से अपराह्न 3.00 बजे तक मतदान होगा।

प्रदेश में सभी 230 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान संपन्न करवाने के लिए बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मियों और पुलिस बलों की व्यवस्था की गई है। जिलों में शनिवार को सुरक्षाकर्मियों ने लेग मार्च भी किया। केंद्रीय अर्धसैनिक बल, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और विशेष सशस्त्र पुलिस की 552 कम्पनियां प्रदेश में तैनात की गई हैं।

नक्सल प्रभावित बालाघाट और सिंगरौली जिलों में 22 नवंबर से एक-एक हेलीकॉप्टर को गश्त पर लगाया गया है, जो सोमवार को मतदान के दौरान भी गश्त लगाते रहेंगे। प्रदेश में मतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए छह अन्य राज्यों से 29 हजार 500 होमगार्ड के सैनिकों की भी व्यवस्था की गई है। प्रदेश के 35 जिलों की सीमाएं पड़ोसी राज्यों से लगती हैं, इसलिए वहां विशेष सतर्कता बरतते हुए उनकी सीमाएं सील कर दी गई हैं।

अंतर्राज्यीय सीमाओं से अवैध हथियार, शराब, धनराशि एवं विस्फोटक सामग्री के आवागमन को रोकने के लिए सघन नाकाबंदी भी लगाई गई है। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी जयदीप गोविंद ने बताया कि प्रदेश के 51 जिलों के 230 विधानसभा क्षेत्रों में 25 नवंबर को एक ही चरण में मतदान कराया जा रहा है। गोविंद ने बताया कि प्रदेश में कुल 4,66,31,759 मतदाताओं में महिला मतदाताओं की संख्या 2,20,00,000 लाख के करीब है।

अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी एल. कांता राव ने बताया कि रुपयों की लेन-देने की आशंका वाले 60 संवेदनशील विधानसभा क्षेत्रों में विशेष चौकसी रखी जा रही है। विभिन्न जांच दलों द्वारा अवैध रूप से रखे गए नौ करोड़ रुपयों की जब्ती की गई है। प्रदेश में सभी 53,946 मतदान केंद्रों के लिए मतदान अधिकारियों का दल रविवार की सुबह रवाना होकर सभी मतदान केंद्रों पर पहुंच चुका है। सोमवार की सुबह मतदान से आधा घण्टा पहले अभ्यास के लिए छद्म मतदान कराया जाएगा।

इसके बाद मतदाताओं के लिए मतदान शुरू हो जाएगा। कांता राव ने बताया कि मतदान को सुरक्षित एवं शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए 3.5 लाख अधिकारी-कर्मचारी तैनात किए गए हैं। लगभग 18 हजार ड्राइवर, सफाईकर्मी और सहायक भी चुनाव संबंधित वाहनों की व्यवस्था संभाले हुए हैं। मतदान में तैनात कर्मचारियों ने डाक मतपत्र के जरिए मतदान किया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You