गुजरात जासूसी कांड में राष्ट्रपति से दखल देने की मांग

  • गुजरात जासूसी कांड में राष्ट्रपति से दखल देने की मांग
You Are HereNational
Monday, November 25, 2013-2:27 PM

नई दिल्ली: गुजरात जासूसी कांड के बाद नरेंद्र मोदी और उनके रीबी अमित शाह दोनों महिला संगठनों के निशाने पर हैं। यह मामला अह सुप्रीम कोर्ट के बाद राजनीतिक दलों के महिला विंग ने राष्ट्रपति भवन का भी रुख कर लिया है। राजनीतिक दलों से जुड़े महिला संगठनों ने राष्ट्रपति से मामले में दखल की मांग की है। जासूसी प्रकरण को लेकर आज एनजीओ, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और राजनीतिक दलों के महिला मोर्चे ने राष्ट्रपति से दखल देने की मांग की।

इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस, सीपीआई, एलजेपी, एनसीपी का महिला मोर्चा सदस्य शामिल थीं। इसके अलावा शबनम हाशमी सहित कई सामाजिक कार्यकर्ता भी इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल थीं। शबनम हाशमी ने कहा कि ये किसी राजनीतिक पार्टी की बात नहीं है। ये किसी इंसान के निजता के हनन की बात है। इस मामले में राज्य सरकार की पूरी मशीनरी को गलत तरीके से इस्तेमाल करने की बात है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You