पुर्नमतदान की जनहित याचिका खारिज

  • पुर्नमतदान की जनहित याचिका खारिज
You Are HereNcr
Monday, November 25, 2013-4:42 PM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने नोटा पर पुर्नमतदान की याचिका को खारिज कर दिया है। गौरतलब है कि मतदाताओं द्वारा किसी विधानसभा या लोकसभा क्षेत्र में सभी उम्मीदवारों को नकार दिए जाने की स्थिति में पुनर्मतदान कराए जाने का निर्देश देने के बाबत एक जनहित याचिका दायर की गई थी। चुनाव आयोग ने हाल ही में इवीएम मशीन में मतदाताओं को इनमें से कोई नहीं (नोटा) चुनने विकल्प दिया है।

मुख्य न्यायाधीश जस्टिस पी सतशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सोमवार को कहा कि यह विधायिका पर निर्भर है कि वह कानून में संशोधन करे। अभी इस दिशा में कोई निर्देश देना जल्दबाजी होगी। जगन्नाथ नाम के एक व्यक्ति ने जनहित याचिका दायर करते हुए मांग की थी कि यदि किसी क्षेत्र में बहुसंख्य मतदाताओं ने इवीएम में नोटा के विकल्प को चुना तो आयोग को वहां फिर से चुनाव कराए जाने का निर्देश दिया जाए। फिलहाल चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में लोगों की प्रतिक्रिया जानने के लिए नोटा को शुरू किया है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You