मुंबई 26/11 हमला: 5वीं वर्षगांठ आज, पाटिल बोले ‘महाराष्ट्र पूरी तरह सुरक्षित’

You Are HereNational
Tuesday, November 26, 2013-12:38 PM

मुंबई: मुंबई में हुए 26/11 आतंकवादी हमले को आज पूरे पांच वर्ष हो जाएंगे। इस अवसर पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री आर. आर. पाटिल ने आश्वस्त किया है कि ‘‘मुंबई और महाराष्ट्र अब इस तरह के हमलों से पूरी तरह सुरक्षित हैं।’’ 26/11 हमलों की पांचवीं वर्षगांठ की पूर्वसंध्या पर सोमवार को पाटिल ने आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘मैं सभी देशवासियों को आश्वस्त करना चाहूंगा कि मुंबई और महाराष्ट्र अब 26/11 जैसे हमलों से पूरी तरह सुरक्षित हैं।’’

 

हमलों के वक्त भी राज्य के गृह मंत्री रहे पाटिल को 2008 में 26 से 29 नवंबर तक चले आतंकवादी हमलों को रोकने और उनसे बचाव करने में असफल रहने के कारण काफी समय तक आलोचना की जाती रही। विपक्षी दलों ने विशेष तौर पर इसके लिए पाटिल पर निशाना साधा। गौरतलब है कि 2008 में हुए हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि लगभग 300 लोग घायल हुए थे। इन हमलों के एक सप्ताह बाद ही पाटिल ने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

 

वह 2009 विधानसभा चुनाव के बाद फिर से गृह मंत्री बने। 26/11 मुंबई आतंकी हमलों के पांच वर्ष बाद पाटिल देश की आर्थिक राजधानी और राज्य की सर्वाधिक औद्योगिकृत शहर मुंबई की आतंकवादी हमलों से सुरक्षा के बारे में बात करते हुए कहीं अधिक दृढ़ और विश्वास से भरे हुए हैं। पाटिल ने कहा, ‘‘राज्य और केंद्र सरकार ने संयुक्त रूप से और निजी तौर पर भी भविष्य में इस तरह के आतंकी हमलों, चाहे वह देश के अंदरूनी हिस्सों से हो या अरब सागर के रास्ते हो, की चौकसी करने और उन्हें रोकने के लिए अनेक उपाय किए हैं।’’

 

पाटिल ने कहा कि 26/11 हमले के परिणामस्वरूप भारत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के समक्ष यह सबित करने में कामयाब रहा कि यह हमला लश्कर-ए-तैयबा द्वारा किया गया था। इस हमले में पकड़ा गया एकमात्र जीवित आतंकवादी अजमल आमिर कसाब को निष्पक्ष सुनवाई के बाद मृत्युदंड दिया गया। पाटिल ने आगे कहा, ‘‘मैं इस मौके पर भविष्य में निरीह लोगों को निशाना बनाने वाले आतंकियों को चेतावनी देना चाहूंगा कि उन्हें बख्शा नहीं जाएगा और उनका भी हश्र कसाब और अन्य आतंकवादियों जैसा ही होगा।

 

हम किसी भी तरह के हमले का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।’’ सुरक्षा इंतजामों के बारे में पाटिल ने उत्साहजनक तरीके से बताया कि मुंबई और राज्य पुलिस का आधुनिकीकरण किया गया है, सुरक्षा बलों में सुधार लाया गया है, अन्य अतिरिक्त विशेष सुरक्षा इकाइयों जैसे फोर्सवन को विकसित किया गया है, अ‘छे हथियार उपलब्ध कराए गए हैं, तथा सुरक्षाकर्मियों को लोगों के जीवन की रक्षा के लिए वाहन एवं संचार की सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं।

 

इसके अलावा पिछले पांच वर्षों में राज्य सरकार ने मुंबई, पुणे और राज्य के अन्य बड़े जिलों में विभिन्न सार्वजनिक स्थलों, चौराहों, रेलवे स्टेशनों, प्रमुख सरकारी एवं निजी कार्यालयों, प्रमुख संस्थापनाओं, संवेदनशील जगहों एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थलों पर सीसीटीवी स्थापित किए हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You