तहलका मामला: महिला पत्रकार का बयान दर्ज करने मुंबई पहुंची गोवा पुलिस

  • तहलका मामला: महिला पत्रकार का बयान दर्ज करने मुंबई पहुंची गोवा पुलिस
You Are HereNational
Tuesday, November 26, 2013-2:17 PM

पणजी: गोवा पुलिस का एक दल तहलका पत्रिका के संपादक तरूण तेजपाल पर यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार का बयान दर्ज करने आज मुंबई पहुंची।  पुलिस सूत्रों ने बताया कि मामले की जांच अधिकारी सुनीता सावंत दल का नेतृत्व कर रही है। दल मुंबई में महिला पत्रकार के निवास पर उससे मिलेगी। गोवा पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘बयान आज दर्ज कराया जाएगा और पुलिस दल के देर रात लौटने की संभावना है।’’

वहीं, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार महिला पत्रकार ने गोवा आ कर अधिकारियों के समक्ष अपना बयान दर्ज कराने की इच्छा जताई है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर नहीं किए जाने की शर्त पर बताया कि मामले की जांच कर रही गोवा पुलिस की अधिकारी सुनीता सावंत ने कल फोन पर महिला पत्रकार से संपर्क किया था। महिला पत्रकार ने जांच अधिकारी से सहयोग करने की इच्छा जताई।

अधिकारी ने कहा, ‘‘अगर महिला गोवा का सफर करती है तो मजिस्ट्रेट के समक्ष उसका बयान आईपीसी की धारा 164 अपराध स्वीकृति और बयान दर्ज किया जाना: के तहत दर्ज किया जाएगा।’’  अधिकारी ने बताया कि हालांकि गोवा पुलिस ने मुंबई में रह रही महिला पत्रकार से अभी तक मुलाकात नहीं की है, उसके साथ जांच अधिकारी की पहली वार्ता बेहद फलदायी रही है। 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘उसने :महिला पत्रकार ने: बहुत सारी ऐसी चीजों की चर्चा की जिसका उल्लेख ईमेल में भी नहीं है। यह तरूण तेजपाल के खिलाफ जा सकता है।’’अधिकारी ने बताया कि महिला पत्रकार जांच एजेंसी के साथ पूरा सहयोग करने पर रजामंद है।  गोवा पुलिस के उप महानिरीक्षक ओ. पी. मिश्रा ने कल यहां पत्रकारों से कहा था कि मामले की जांच अधिकारी ने महिला पत्रकार से संपर्क किया था।

बहरहाल, उन्होंने यह दावा करते हुए ब्योरा देने से इनकार कर दिया कि पुलिस उसकी निजता सुरक्षित रखना चाहती है।  महिला पत्रकार ने जांच अधिकारी को बताया कि उसने तेजपाल के खिलाफ कोई मामला दायर करने में इसलिए देर की कि ‘‘वह एक हाई-प्रोफाइल शख्स हैं।’’ 

महिला पत्रकार ने ‘‘किसी भी तरह के दबाव से मुक्त’’ होने के लिए पत्रिका से इस्तीफा दे दिया। अधिकारी ने बताया कि गोवा पुलिस महिला पत्रकार से आज फिर संपर्क करेगी और उससे मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराने को कहेगी। अधिकारी ने कहा, ‘‘वह कब आएगी जैसे ब्योरे उसके बाद ही मिल सकेंगे।  इस बीच, गोवा के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इन रिपोर्टों को बेहूदगी करार दिया कि तेजपाल के खिलाफ कोई ‘लुक-आउट सर्कुलर’ जारी किया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने सवाल किया, ‘‘हम कैसे उनके खिलाफ लुक-आउट सर्कुलर जारी कर सकते हैं जब हमने मामले में उन्हें समन तक नहीं भेजा है।?’’   पुलिस अधिकारी ने कहा कि गोवा पुलिस मामले में व्यवस्थित रूप से कार्यवाही कर रही है। तरूण तेजपाल से पूछताछ से पहले महिला पत्रकार का उचित ढंग से बयान दर्ज करना निहायत अहम है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You