नीतीश का रिपोर्ट कार्ड, राशन कार्ड जैसा : भाजपा

  • नीतीश का रिपोर्ट कार्ड, राशन कार्ड जैसा : भाजपा
You Are HereNational
Tuesday, November 26, 2013-7:56 PM

पटना: बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में चल रही सरकार के आठ वर्ष पूरे होने पर सोमवार को जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी किया, वहीं पांच महीने पूर्व तक सरकार में शामिल रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को ‘विश्वासघात के पांच महीने, सांसत में सुशासन’ पर 48 पन्नों का ‘सच’ नाम से रिपोर्ट कार्ड जारी किया है। इस दौरान भाजपा के विधायक दल के नेता नंदकिशोर यादव ने नीतीश द्वारा जारी रिपोर्ट कार्ड को मुख्यमंत्री का निजी राशन कार्ड बताया है।

पटना में ‘सच’ जारी करते हुए यादव ने रिपोर्ट कार्ड पर प्रहार करते हुए कहा कि इस रिपोर्ट कार्ड में नीतीश की 127 तस्वीरें हैं। उन्होंने कहा कि यह सरकार की रिपोर्ट कार्ड से ज्यादा नीतीश का अपना राशन कार्ड नजर आता है। पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इस सरकार को अल्पमत की सरकार बताते हुए कहा कि उनकी पार्टी की उपलब्धियों को ही इस रिपोर्ट कार्ड में आधार बनाया गया है।

उन्होंने रिपोर्ट कार्ड के माध्यम से जनता को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अगर गठबंधन की सरकार और 10 वर्ष चलती तो बिहार में सिस्टम अपनी जगह चला आता, परंतु भाजपा के अलग हुए अभी साढ़े पांच महीने ही हुए हैं और बिहार की चर्चा अब नकरात्मक बातों को लेकर होने लगी है। उन्होंने सरकार पर विकास कार्य ठप करने का आरोप लगाया तथा कहा कि अनिर्णय की स्थिति होने के कारण पूर्व में लिए गए फैसलों का कार्यान्वयन पांच महीने से बाधित है।

भाजपा की बिहार इकाई के अध्यक्ष मंगल पांडेय ने आतंकवाद की चर्चा करते हुए कहा कि सरकार के कारण बिहार में आतंकवाद बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि आज बिहार के कई जिले आतंकवादियों की शरणस्थली बने हुए हैं, परंतु सरकार कोई कारगर पहल नहीं कर पा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You